हल्द्वानी: 9 मार्च 2018

हल्द्वानी में एक दिव्यांग से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। 7 मार्च को बच्ची को अगवा कर उसके साथ शर्मनाक हरकत को अंजाम दिया गया। सीसीटीवी कैमरे की मदद से बच्ची को अपने साथ ले जा रहे आरोपी की पहचान हुई। पीड़िता के भाई की तहरीर पर दोनों आरोपितों के विरुद्ध दुष्कर्म व पास्को अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने दोनो आरोपियों को शुक्रवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया गया है।

बता दें कि इंदिरानगर निवासी मजदूर का परिवार सात मार्च की रात बनभूलपुरा के लाइन नंबर एक स्थित बारात घर में आयोजित समारोह में गया था। परिवार अपनी 13 साल की बच्ची को घर पर ही छोड़कर चले गए थे। बच्ची सीढ़ी के रास्ते का दरवाजा खोल बाहर चले गई। इसी बीच उसे किसी ने अगवा कर लिया। इस पूरे वारदात का वीडियो सीसीटीवी पर कैद हो गया। उसके बाद ये वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया।

शादी समारोह के बाद परिवार जब घर पहुंचा तो उन्हें किशोरी नहीं मिली। बच्ची के लापता होने की खबर ने पास के इलाके में सनसनी फैला दी। आठ मार्च को भाई ने बनभूलपुरा थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई लेकिन रात में ही किशोरी आंवलाचौकी गेट के पास मिल गई। पुलिस ने उसे परिजनों को सौंप दिया गया।

वहीं शुक्रवार को परिजनों ने आंवलाचौकी गेट के पास झोपड़ियों में रहने वाले मजदूर मूल चंद व भूप सिंह के किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म करने की शिकायत की।  पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। देर शाम दोनों मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया गया है। शनिवार को दोनों को न्यायालय में पेश किया जाएगा। इस हादसे के बाद से बच्ची पूरी तरह से डरी हुई है। वो किसी से कुच नहीं कह पा रही है। इस घटना के सामने आने के बाद लोगों में काफी आक्रोश है।