बेंगलुरु-एजेंसी- भारत ने  इंग्लैंड को टी-20 सीरीज के आखिरी मैच में 75 रनों से हरा फैंस को खुशी से झूमने का मौका दिया। भारतीय टीम जहां भी खेलती फैंस उसकी ताकत बन जाते है और वो उसके खेल में भी दिखता है। चिन्नास्वामी स्टोडियम खेले गए टी-20 के दौरान भी टीम इंडिया को फैंस ने शानदार सपोर्ट किया। भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज भी 2-1 से अपने नाम कर ली।। ये मैच जीत के अलावा कई और चीजों के लिए भी सुर्खिया बना रहा। एक महेंद्र सिंह धोनी की पहली टी-20 फिफ्टी और  दूसरी 7 साल बाद टी-20 इंटरनेशनल में हाफ सेंचुरी लगाने वाले सुरेश रैना  की बल्लेबाजी। रैना और धोनी ने भारत को 202 रनों के लक्ष्य तक पहुचाने में मदद की।  भारत की पारी के दौरन रैना के एक एक छक्के ने युवा फैंन कोअस्पताल पहुंचा दिया।  इस मैच में रैना ने 63 रनों की पारी खेली जिसमें 2 चौके और एक छक्का मौजूदा था। लेकिन रैना का एक  सिक्स मैच देख रहे एक 6 साल के बच्चे की जांघ पर जाकर लग गया। न्यूज एजेंसी एएनआई मुताबिक बच्चे को मामूली चोट लगी थी और इलाज के बाद उसे जल्द ही डिस्चार्ज भी कर दिया गया।

boy-injured

 

 

 
रैना के सिक्सर से घायल होने वाले बच्चे का नाम सतीश है। जांघ पर गेंद लगने के बाद सतीश को स्टेडियम के मेडिकल सेंटर ले जाया गया। चोट मामूली थी इस वजह से उसे जल्द ही डिस्चार्ज कर दिया गया। सतीश को मैच देखने की कुछ ऐसी ललक थी कि इलाज के बाद वह फिर से फैंस स्टेटस में चला गया।बता दें कि बुधवार को बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टी-20 में भारत ने इंग्लैंड को 75 रनों से मात देकर सीरीज पर भी 2-1 से कब्जा कर लिया। मैच में जहां सुरेश रैना ने 7 साल बाद टी-20 में अर्धशतक बनाया, वहीं महेंद्र सिंह धोनी ने तो अपने करियर का पहला टी-20 अर्धशतक बनाया। भारत ने निर्धारित 20 ओवरों में 202 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जवाब में इंग्लैंड के बल्लेबाज यजुवेंद्र चहल की गेंदबाजी से सामने घुटने टेक दिए। इंग्लैंड की पूरी टीम 127 रनों पर सिमट गई। भारत की तरफ से यजुवेंद्र चहल ने सबसे ज्यादा 6 विकेट लिए।

 

 

 

फोटो सौजन्य- ANI