देहरादून: न्यूजीलैंड में चल रहे अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप में भारत का विजय रथ जारी है। भारत ने क्वार्टर फाइनल में बांग्लादेश को 131 रनों से हरा सेमीफाइनल में जगह बना ली है। भारत की जीत के नायक एक बार फिर उत्तराखण्ड के कमलेश नगरकोटी रहे। कमलेश नगरकोटी ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 3 विकेट अपने नाम किया। कमलेश की रफ्तार के आगे बांग्लादेश के बल्लेबाज बेबस नजर आए। भारत ने इस जीत के साथ सेमीफाइनल में जगह बना ली है।सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला पाकिस्तान से होगा। क्वार्टर फाइनल में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 265 रन बनाए। भारत की ओर से बल्लेबाजी में कप्तान पृथ्वी 40, शुभम गिल 86 और अभिषेक शर्मा ने 50 रन बनाए।

266 रनों का लक्ष्य का पिछा करने उत्तरी बांग्लादेश की टीम मात्र 134 रनों पर ढेर हो गई। भारतीय टीम की ओर से गेंदबाजी मे कमलेश नगरकोटी 3,शिवम मावी 2,अभिषेक शर्मा 2 और स्पिनर अनुकुल को 1 विकेट मिला। इस मैच में भारतीय टीम भले ही ज्यादा रन बनाने में नाकाम रही हो लेकिन गेंदबाजों ने एक फिर साबित किया कि वह किसी स्कोर की रक्षा करने में सक्षम है। तेज गेंदबाज कमलेश नगरकोटी मैच दर मैच और घातक होते जा रहे हैं। उनकी रफ्तार विरोधी टीमों के लिए आफत बन गई है। कमलेश ने विश्वकप में खेले 4 मैचों में 7 विकेट लिए है। कमलेश की रफ्तार दिन प्रतिदिन और घातक होती जा रही है। कमलेश की रफ्तार ने पूरे क्रिकेट जगत को प्रभावित किया है। वह केवल 18 साल के है और लगातार 145 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे हैं।

कमलेश की रफ्तार ने सेमीफाइनल से पहले पाकिस्तान को परेशान किया हुआ है। पाकिस्तान भले ही सेमीफाइनल में पहुंची हो लेकिन उसके बल्लेबाज फॉर्म में नहीं है। कमलेश की रफ्तार ने पाकिस्तान की टेंशन को और बड़ा दिया है। पाकिस्तान को लीग राउंड के एक मैच में हार का सामना करना पड़ा था। वही भारतीय टीम पाकिस्तान ने चैंपियन ट्रॉफी में मिली हार का बदला लेने के इरादे से मैदान पर उतरेगी।