हल्द्वानी : उत्तराखंड में खेल प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है । क्रिकेट हो या एथलेटिक्स हर खेल में उत्तराखण्ड के खिलाडी पदक जीत रहे हैं और प्रदेश नाम रोशन कर रहे हैं। जूनियर लेवल पर हुए खेलो इंडिया स्कूल गेम्स में 800 मीटर और 1500 मीटर दौड़ का स्वर्ण उत्तराखंड के अन्नू कुमार ने जीता था ।
उत्तराखंड के युवा एथलीट अन्नू कुमार अब ओलंपिक की तैयारी में जुट गए हैं। उसेन बोल्ट, योहान ब्लैक जैसे ओलंपियन को तैयार कर चुके कोच ग्लेन मिल्स से अन्नू कुमार विशेष ट्रेनिंग ले रहे हैं। वहां उन्हें दुनिया के सबसे तेज धावक रहे उसेन बोल्ट से भी दौड़ के टिप्स सीखने का मौका मिलेगा। गेल इंडिया और एनवाईसीएस के सहयोग से यह उपलब्धि हासिल करने वाले अन्नू उत्तराखंड के एकमात्र एथलीट हैं।

बोल्ट से दौड़ के टिप्स लेने जमैका पहुंचे हरिद्वार के अन्नू कुमार

खेलो इंडिया में 800 मीटर और 1500 मीटर दौड़ का स्वर्ण जीतने वाले उत्तराखंड के अन्नू कुमार आजकल जमैका में हैं। रेसर ट्रैक क्लब किंग्सटन जमैका में अन्नू 800 मीटर दौड़ की ट्रेनिंग ले रहे हैं। उनको यह ट्रेनिंग उसेन बोल्ट के कोच ग्लेन मिल्स दे रहे हैं। वर्ल्ड स्कूल गेम्स 2017 में रजत पदक जीतने वाले महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कालेज देहरादून के 11वीं कक्षा के छात्र अन्नू कुमार हरिद्वार जिले के धनपुरा गांव के निवासी हैं।

अन्नू के कोच लोकेश कुमार ने बताया कि बीते साल नेशनल युवा कॉपरेटिव सोसायटी (एनवाईसीएस) और गेल इंडिया के कार्यक्रम के तहत फरवरी 2017 में अन्नू ने अंडर-16 आयु वर्ग में ट्रायल दिया था। इसमें दौड़ के साथ ही खिलाड़ी का मेडिकल टेस्ट, बोन टेस्ट, डोप टेस्ट आदि हुआ था। अगस्त 2017 में एनवाईसीएस और गेल इंडिया का रिजल्ट आया। देश से चुने हुए 14 एथलीटों में उत्तराखंड से एकमात्र अन्नू कुमार का चयन स्कॉलरशिप के लिए किया गया है। ओलंपिक 2020 और ओलंपिक 2024 के लिए खिलाडि़यों को अब तैयार किया जा रहा है। इसमें खिलाड़ी को हर तरह की सुविधा गेल इंडिया से दी जा रही है। हाई एटीट्यूट ट्रेनिंग कैंप भी कराया जाएगा। साथ ही इस दौरान प्रतियोगिता का खर्चा भी दिया जा रहा है। बताया कि खेलो इंडिया में 800 मीटर दौड़ के बाद अन्नू कुमार रेसर ट्रैक क्लब किंग्सटन जमैका के लिए रवाना हुए हैं और 28 फरवरी तक वहां ट्रेनिंग लेंगे।

लोकेश कुमार ने बताया कि जमैका में 11 फरवरी को कैंपरडाउन क्लासिक 2018 नाम से प्रतियेागिता हुई थी। इसमें अन्नू कुमार ने 1.53.87 मिनट का समय लेकर स्वर्ण पदक जीता। अन्नू ने अपना समय अब 1.48 मिनट तक लाने का लक्ष्य रखा है। अन्नू ने बताया कि जमैका में ट्रेनिंग का स्तर भारत से बहुत अलग है। अन्नू जो सीखकर आएगा, उससे कालेज के युवा एथलीटों को भी सीखने को मिलेगा।