जूनियर इंडिया का अंडर-19 क्रिकेट में होगा राज, ऑस्ट्रेलिया को दी फाइनल में मात

216

हल्द्वानी: भारत ने अंडर-19 विश्वकप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से शिकस्त दी। भारत की ओर से मनजोत कालरा ने शानदार शतकीय पारी खेलते हुए इतिहास रच दिया। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को जीत के लिए 217 रनों का लक्ष्य दिय़ा था। ये चौथा मौका है जब भारतीय टीम ने अंडर-19 विश्वकप को अपनी छोली में डाला है। इससे पहले भारत ने साल 2000 (मोहम्मद कैफ), 2008 (विराट कोहली) और साल 2012 (उन्मुक्त चंद ) की कप्तानी में अंडर-19 विश्वकप का ताज अपने नाम किया था। इस जीत के साथ अंडर-19 टीम इंडिया ने भारत के महान बल्लेबाज राहुल द्रविड को भी विश्वकप का खिताब तोहफे पर दिया है। ऐसा इसलिए कि द्रविड ने अपने क्रिकेट करियर में बतौर कोच और खिलाड़ी कभी विश्वकप की ट्रॉफी नहीं जीती। भारत की ओर से बल्लेबाजी में मनजोत कालरा 101,हार्विक दसाई 47, शुभमन गिल 31 और कप्तान पृथ्वी शॉ ने 29 रन बनाए। भारत ने

Image result for india under 19 team

ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 47.2 में 216 रन बनाए। बल्लेबाजी में कंगारूओं की ओर से जोनाथन मेर्लो ने 74 रनों की पारी खेली। इसके अलावा परम उप्पल 34 और जैक एडर्वड्स ने 28 रन बनाए। भारत के गेंदबाजों ने मैच के पहले ओवर से सधी हुई गेंदबाजी की और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को हाथ खोलने का मैका नहीं दिया। एक वक्त पर ऑस्ट्रेलिया बड़े स्कोर की ओर बढ़ता नजर आ रहा था लेकिन स्पिनरों ने उनके मसूबों पर पानी फेर दिया।

भारत की स्पिन तिकड़ी ने ऑस्ट्रेलिया के 6 बल्लेबाजों को आउट किया। अभिषेक शर्म, ्अनुकुल रॉय और शिवा सिंह को 2-2 विकेट मिले। वहीं तेज गेंदबाजी में इशान पोरल 2, कमलेश नगरकोटी 2 और शिवम मावी ने 1 विकेट हासिल किया। भारत की ओर से इस विश्वकप में सबसे ज्यादा रन शुभमन गिल ने 372 रन बनाए। वहीं गेंदबाजी में अनुकुल रॉय ने अपने नाम 13 विकेट हासिल किए।

भारतीय टीम के लिए इस विश्वकप में सबसे बड़ी खोज के तौर पर गेंदबाज कमलेश नगरोकटी और बल्लेबाज शुभमन गिल देखे जा रहे है। कमलेश ने इस विश्वकप में 9 विकेट हासिल किए। उनकी रफ्तार ने पूरे विश्व जगत को अपनी ओर ध्यान लगाने  पर मजबूर कर दिया। वहीं शुभमन की पाकिस्तान के खिलाफ शतकीय पारी में क्रिकेट विशेषज्ञों को विराट कोहली की झलक दिखाई दी।