कब तक चलेगा ये दिखावा, शोक सभा हंसते हुए नजर आए भाजपाई

नई दिल्ली: शोक सभा को दुख जाहिर करने के लिए रखा जाता है। आत्मा की शांति के लिए ध्यान करते है लेकिन मेरठ में भाजपा नेताओं के लिए शोक समारोह एक दिखावा है। ये हम नहीं एक निजी अखबार द्वारा पोस्ट की खबर में दिखाई दिया है। उत्तर प्रदेश के कासगंज में गणतंत्र दिवस पर भड़की सांप्रदायिक हिंसा में मारे गए युवक चंदन कुमार गुप्ता की आत्मा की शांति के आयोजित शोक समारोह में पहुंचे भाजपाई दीप जलाते हुए हंसते नजर आए ।

मेरठ: भाजपाइयों ने हंसते हुए दी कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता को श्रद्धांजलि, सोशल मीडिया हुई खिंचाई

इस फोटो के सामने आने के बाद सोशल मीडिया ने भाजपाई नेताओं की खूब खबर ली जा रही है। यह शोक सभा मेरठ के छीपी टैंक के शिव चौक पर आयोजित की गई थी। इस फोटो को दैनिक जागरण के फोटोजर्नलिस्ट आबिद द्वारा लिया गया था। शोक सभा के दौरान कुछ भाजपाइयों के चेहरे पर तो शोक के भाव बिल्कुल नजर नहीं आ रहे थे। वो हंसते हुए दीप जलाते रहे जिसे देख शोक सभा में पहुंचे लोग भी दंग रह गए।

अब बात ये उठकर आती है कि क्या किसी की मौत में शोक सभा का आयोजन केवल राजनीतिक फायदे के लिए होगा। ऐसा होता नहीं लेकिन जो भाजपाइयों ने दिखाया है वो यही साबित कर रहा है। बता दें कि यूपी के कासगंज में गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान दो समुदायों में झड़प हो गई थी। इस झड़प ने कुछ ही समय में हिंसक रूप ले लिया और एक युवक की मौत हो गई। इसके बाद लगातार तीन दिन तक अलग-अलग जगह पर हिंसक झड़प और आगजनी की वारदातें सामने आती रहीं. पुलिस प्रशासन ने शहर की निगरानी करने के लिए ड्रोन का भी सहारा लिया। तिरंगा यात्रा के दौरान भड़की हिंसा में मारे गए चंदन कुमार गुप्ता के परिजनों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 20 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है।

 

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now