नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को देश की पहली इको फ्रेंडली रिफाइनरी का कार्य शुभारंभ किया। बता दे कि बाड़मेर के पचपदरा में इस रिफाइनरी की लागत करीब 43 हजार करोड़ रुपए है। इस रिफाइनरी को 4 साल के अंदर बनाया जाएगा। यह रिफाइनरी बीएस-6 मानक पर बनेगी। इस रिफाइनरी को बनाने में एचपीसीएल और राजस्थान सरकार के अपनी भागेदारी पेश करेगी।

इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी नो लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमारा देश एक उज्जवल भविष्य की ओर जा रहा है। हम ऐसी तरफ जा रहा है जहां हमें दुनिया एक अलग नजर से देखेगी। उन्होंने कहा ​​कि उन्हें यहां से विश्वास दिया गया है कि जब वर्ष 2022 में देश आजादी के 75 वर्ष का जश्न मना रहा होगा तब यहां से रिफाइनरी का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। पीएम मोदी ने इस मौके पर इजरायल के हाइफा को मुक्त कराने में राजस्थान के वीर सपूतों के योगदान को याद किया। मोदी ने मेजर दलतप सिंह शेखावत को प्रणाम किया। और ​ हाइफा युद्ध के बारे में याद​ दिलाया।

पीएम ने प्रधानमंत्री उज्जवल योजना को वरदान करार दिया। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस योजना के तहत गरीबों के रसोइघर से लकड़ी की झनझट गायब कर दी है। हमें उन सभी परिवारों की माताओं का आशीर्वाद  मिला हुआ है। पहले खाना बनते वक्त घुएं के वजह से उनकी आंखों से आंसू गिरते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है।

 

इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस केवल बड़ी-बड़ी बाते करती है लेकिन काम नहीं। भाजपा सरकार ने जनता को हर वो चीज देने की कोशिश की है जिसका उन्हें अधिकार है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपनी सरकार के वक्त रेलवे बजट में 1500 से ज्यादा कांग्रेस ने ऐसी घोषणाएं कि जिनका आज तक नामो​निशान नहीं है। वन रैंक वन पेंशन में भी कांग्रेस ने फौजियों के साथ छल किया। इस कार्य के लिए बजट में भी सिर्फ दिखावा किया गया था।