हल्द्वानी: आज कृषि विभाग द्वारा कृषक महोत्सव रबी 2016 का आयोजन किया गया। महोत्सव का  शुभारम्भ  वित्त मंत्री  इन्दिरा हृदयेश, अध्यक्ष जिला पंचायत  सुमित्रा प्रसाद द्वारा किया गया।वित्त मंत्री  इन्दिरा हृदयेश ने इस मौके पर विभिन्न न्याय पंचायतों को जाने वाले कृषि विकास रथों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। गौरतलब है कि प्रदेश सरकार के निर्देशों के क्रम में वर्तमान रबी सीजन के लिए किसानों को कृषि की आधुनिकतम तकनीकी जानकारी देने के लिए जनपद भर में 03 अक्टूबर से 09 अक्टूबर तक पर्वतीय क्षेत्रों की न्याय पंचायतो में कृषि महोत्सव का आयोजन किया गया है।

वित्त मंत्री  इन्दिरा हृदयेश ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज के दौर में किसान खेती से विमुख होता जा रहा है। अब किसान को खेती बाडी नफे का सौदा नहीं लगता, इसलिए किसान अपनी कृषि भूमि को बेचने में विश्वास करता है। उन्होंने कहा कि अब ऐसा देखने को मिल रहा है कि कृषि भूमि तेजी से बेची व खरीदी जा रही है। जबकि सरकार द्वारा कृषि भूमि की खरीद पर रोक लगा रखी है। उन्होने कहा कि आज के दौर में कृषकों को पारम्परिक, आधुनिक तथा जैविक खेती की ओर वापस लाना होगा। इसके लिए कृषि महकमें को अपनी पुरानी कार्य प्रणाली को त्यागकर किसानों के क्षेत्र में उन्नत खेती से सम्बन्धित कृषि प्रदर्शन परिक्षेत्र तैयार करने होंगे। पहले इस प्रकार के क्षेत्र कृषि विभाग द्वारा किसानों के बीच बनाये जाते थे, जो काफी समय से बन्द हैं। कृषि विभाग को किसान के द्वार पहुंचकर  उनकी समस्याओं का हल खोजना होगा और किसानों को आधुनिक व जैविक खेती की ओर प्रोत्साहित करना होगा।
unnamed-2
अपने संबोधन के दौरान वित्त मंत्री  इन्दिरा हृदयेश किसानों की हालात को बताते हुए भावुक होते हुए दिखी। उन्होंने कहा कि किसान के कारण ही मनुष्य जीवन का अस्तित्व जीवित है। किसान को बेहतर माहौल देना केवल सरकार ही नही हर नागरिक की जिम्मेदारी है। किसान को सुविधा मिलती नही इसलिए वो अपनी भूमि बेचने लगा है। उन्होंने कहा कि किसान अनाज उगाता है वो भी हमारे लिए इससे व्यापारी की नजर से ना देखे। उन्होनें कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के विकास के लिए अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही है। इसके अलावा बुर्जुग किसानों को पेंशन भी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार हर कदम में किसानों के साथ है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now