खुशखबरी: अंडर-19 विश्वकप के आगाज के साथ उत्तराखण्ड क्रिकेट को मिलेगी BCCI से मान्यता

364

हल्द्वानी: लंबे समय से उत्तराखण्ड क्रिकेट बोर्ड को BCCI द्वारा मान्यता मिलनेे की बात चल रही है। इस विषय में उत्तराखण्डवासियों के लिए अच्छी खबर है। मीडिया को मिली जानकारी के मुताबिक उत्तराखण्ड क्रिकेट एसोशिएसन को जनवरी के दूसरे हफ्ते में मान्यता मिलने के आसार है। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की टीम उत्तराखंड का दौरा करने जा रही है। बताया जा रहा है कि बीसीसीआई की टीम उत्तराखण्ड का दौरा करेगी। इस मामले में वित्त मंत्री प्रकाश पंत 18 तारीख को दिए बयान में भी बता चुके है।

दरअसल पिछले एक साल से उत्तराखण्ड के कई युवा क्रिकेट के मैदान पर धूम मचा रहे है। भारतीय टीम की बात करें तो अल्मोडा के मनीश पांडे टीम का हिस्सा हैं। वही पवन नेगी और ऋषभ पंत ने भी टीम में जगह पाई है और छोटे फॉर्मेंट में अपना जलवा बिखेरा है। उत्तारखण्ड क्रिकेट को बीसीसीआई से मान्यता मिलने से राज्य के युवाओं को दूसरे राज्य टीम से खेलना पड़ता है। इस क्रम में उनकी मेहनत दोगुनी हो जाती है और उम्र भी बढ़ती रहती है। उत्तराखण्ड के भरत कुवर, सौरभ रावत,कुनाल चंदेला,अभिमन्यु ईश्वरन और प्रियांशु खंडूड़ी रणजी में खेल रहे है। वही हल्द्वानी के रहने वाले आर्यन जुयाल का जनवरी में होने वाले विश्वकप के लिए भी चयन हुआ है। जनवरी 13 से न्यूजीलैंड में अंडर-19 विश्वकप होने वाला है।

इससे पहले उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी।इस याचिका के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई से साफ शब्दों में कहा है कि जनवरी तक उत्तराखंड क्रिकेट बोर्ड का मामला निपटा लिया जाए। समिति को मान्यता के मामले में 12 जनवरी तक जवाब दाखिल करने का वक्त दिया गया है। इससे साफ हो गया है कि अब वो दिन दूर नहीं जब उत्तराखण्ड की टीम रणजी में शिरकत करेगी।