गैरसैंण में पेश होगा उत्तराखण्ड का बजट

101

देहरादून : पहाड़ के लोगों के लिए खुशखबरी है । प्रदेश सरकार अब विधानसभा के बजट सत्र का आयोजन पूरी तरह गैरसैंण में कराने जा रही है। अब राज्यपाल डॉ. कृष्णकांत पाल के अभिभाषण से लेकर बजट पेश और पारित करने का कार्य गैरसैंण में ही होगा। पहले सरकार ने बजट सत्र का आयोजन दो हिस्सों में देहरादून व गैरसैंण में प्रस्तावित किया था। सत्र कब से होगा, इसकी तिथि को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है। राजभवन से अनुमोदन के बाद ही इसकी अधिकारिक घोषणा की जाएगा। हालांकि फिलहाल माना जा रहा है मार्च के दूसरे सप्ताह से बजट सत्र शुरू हो सकता है।

राज्य गठन के बाद यह पहली बार होगा जब प्रदेश का पूरा बजट सत्र गैरसैंण में आयोजित किया जाएगा। सरकार ने पहले बजट सत्र दो स्थानों पर कराने का प्रस्ताव बनाकर राजभवन को भेजा था। इसके तहत राज्यपाल का अभिभाषण और इसका पारण देहरादून में 20 फरवरी से 23 फरवरी तक होना था। इसके बाद 14 मार्च को गैरसैंण के भराड़ीसैंण स्थित विधानसभा भवन में राज्य का वार्षिक बजट पेश करने के साथ ही विभिन्न विभागों की अनुदान मांगों का प्रस्तुतिकरण व पारण किया जाना प्रस्तावित किया गया। 28 मार्च तक यह सत्र चलना था। हालांकि, सरकार के दो स्थानों पर बजट सत्र कराने को लेकर काफी सवाल भी उठ रहे थे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्यपाल डॉ. कृष्णकांत पाल से मुलाकात के दौरान सत्र के कार्यक्रम में बदलाव को लेकर चर्चा की। इसके बाद सरकार ने केवल गैरसैंण में ही पूरा बजट सत्र कराने का निर्णय लिया है । सरकार ने सत्र का कार्यक्रम तय कर लिया है। संसदीय कार्य एवं वित्त मंत्री प्रकाश पंत का कहना है कि अब से पूरा बजट सत्र मार्च में गैरसैंण में ही आयोजित किया जाएगा।