अहमदाबाद। देश में पत्रकारों पर हमलों के मामले कम होने का नाम ही नही ले रहे है। गुजरात के फिरजूनागढ़ में एक पत्रकार की हत्या कर दी गई। पत्रकार का नाम किशोर  दवे था। चौकाने वाली बात ये है कि हत्या उनके ऑफिस में की गई।गई।  किशोर दवे जयहिंद अख़बार के ब्यूरो चीफ़ के पद पर थे।

किशोर दवे के परिवार ने हत्या का आरोप कि एक वरिष्ठ नेता के बेटे पर लगाया है।इस  मामले में अभी तक किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है। परिवार ने  आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्‍होंने पहले भी पुलिस को चिट्ठी लिखी थी कि पूर्व बीजेपी मंत्री रतिलाल सुरेजा के बेटे ने किशोर  दवे को धमकी दी हुई थी। किशोर  दवे के परिवार ने हत्‍या के पीछे बीजेपी नेता के बेटे के हाथ होने की आशंका जताई है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज की मदद लेकर जांच में जुटी हुई है। खबर की माने तो किसी न्यूज रिपोर्ट को  लेकर नेता ने पत्रकार को धमकी दी हुई थी जिसके बाद ही परिवार सुरक्षा के लिहाज से  पुलिस को पहले ही चिट्ठी लिखकर हमले की आशंका जताई थी।

पुलिस अधीक्षक नीलेश जजाडिया के अनुसार वंजारी चौक पर स्थित गुजराती दैनिक अखबार के दफ्तर में कल रात करीब साढ़े नौ बजे किशोर दवे (53) की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई। जजाडिया ने कहा कि बदमाशों ने बेहरमी से पत्रकार को सात बार चाकू मारा गया। पुलिस ने दवे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी है।

 

 

 

news source-ndtv