डी पी एस हल्द्वानी, लामाचौड़ में सम्पन्न हुआ DPS लिम्पिक्स स्पोर्ट्स मीट, जोश में दिखे छात्र

11

हल्द्वानी:  डीपीएस लामाचौड़ में शैक्षणिक गतिविधियों के साथ शारीरिक एवं मानसिक स्वस्थता के प्रतीक रूप दो दिवसीय खेल प्रतिस्पर्धा का सफल आयोजन किया |

 

खेल प्रतियोगिता दो वर्गों में आयोजित की गई | प्रथम वर्ग की प्रतियोगिता कक्षा प्रथम से पांचवी कक्षाओं तक के विद्यार्थियों के लिए थी | जिसमे बिस्किट रेस, बलून रेस, लेमन रेस, फ्रॉग रेस, 50 मीटर दौड़ आदि प्रतियोगिताएं शामिल थी | जिसमे प्राथमिक वर्ग में बिनसर हाउस 20 में से 18 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर, राजाजी और कॉर्बेट  हाउस 16 अंक के साथ द्वितीय स्थान एवं असान हाउस 14 अंक प्राप्त कर तृतीय स्थान बनाने में सफल रहा |

प्राथमिक स्तर पर लावण्या, काव्या पांडे, लोकेश, रितिक ने उत्कृष्ट खेल प्रतिभा  का परिचय दिया | द्वीतीय वर्ग में कक्षा छठी से लेकर नवीं तक की कक्षाओं की खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की गई जिसमे फुटबॉल, वोलीबॉल, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, 100 मीटर एवं 200 मीटर दौड़ के साथ विभिन्न एथेलेटिक्स प्रतियोगिताएं आयोजित की गई | जिसमे असान हाउस ने प्रथम स्थान, बिनसर हाउस ने दूसरा एवं कॉर्बेट तथा राजाजी हाउस ने तृतीय स्थान प्राप्त किया | यशिका, भूमि भक्त, हर्ष राज , मयंक पांडे, तनूजा आदि ने उत्कृष्ट खेल प्रतिभा का उदाहरण प्रस्तुत किया |

डी पी एस हल्द्वानी, लामाचौड विद्यालय समय समय पर अनेक सुअवसरों को संजोकर विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास को सकारात्मक दिशा व गति प्रदान करता आया है | डी पी एस विद्यालय ग्रीष्मकालीन अवकाशों में समर कैंप के अंतर्गत अनेक प्रतियोगिताओं का भी आयोजन करता है | जिनमे विभिन्न खेल, शारीरिक रचनात्मक, मानसिक गतिविधियाँ एवं क्रियाकलाप शामिल हैं | जैसे- रोबोटिक्स, ताईक्वांडो, अबेकस, वैदिक गणित, पर्सनालिटी डेवलपमेंट, तैराकी, गायन, वादन, नृत्य, फुटबॉल, टेबल-टेनिस, वोलीबाल, क्रिकेट, बैडमिंटन, बास्केटबाल आदि | ये  गतिविधियाँ ग्रीष्मकालीन अवकाशों में समर कैंप के अंतर्गत भी आयोजित की जाती हैं |

विद्यालय में झूलों से सुसज्जित छोटे बच्चों के लिए दो खेल के मैदान, एक भव्य असेम्बली मैदान, एक भव्य फुटबाल/क्रिकेट मैदान, दौड़ने हेतु ट्रैक, वोलीबाल मैदान व भव्य हार्ड कोर्ट है | हार्ड कोर्ट में एक बास्केटबाल, दो लॉन टेनिस  व तीन बैडमिंटन कोर्ट है तथा विद्यालय में आधुनिक तरणताल है जिसमे लगातार साफ पानी हेतु स्वयं का ट्यूबेल व फिल्टर प्लांट लगाया गया है। विद्यालय में संगीत एवं कला को ध्यान में रखते हुए अलग कमरों की व्यवस्था है।

ताकि बच्चे उन विशयों से संबंधित पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सके। विद्यालय का विष्वास है कि सभी वर्ग एवं सभी धर्म के विद्यार्थियों को समान रूप से एक दूसरे के बारे में समझने का मौका मिले जिसके लिए विभिन्न त्योहार व उत्सवों का आयोजन बड़े ही षालीनता के साथ व्यावहारिक रूप से किया जाता है। जैसे ग्रीन दीपावली, इको फ्रेंडली होली, गुरूपर्व, क्रिसमस आदि त्योहारों में विषेश प्रार्थना सभा आयोजित कर उनकी विषेशता के बारे में समझाया जाता है। पर्यावरण के प्रति समझ बढ़ाने हेतु ग्रीन दीपावली मनाना, पटाखे न चलाने, बिजली बचाने, हस्तनिर्मित मिट्टी के दिए एवं दूसरे उत्पादो का प्रयोग कर प्रदूशण मुक्त दीपावली मनाने हेतु बच्चों को प्रेरित किया जाता है।

विद्यालय में प्रत्येक विद्यार्थिओं के अपनी रूचि में नया सीखने के पर्याप्त अवसर प्राप्त हैं जिसके लिए विद्यालय रोबोटिक्स, योगा, वा| ,गायन, डांस , एबेकस तथा विभिन्न क्लबों के माध्यम से बच्चों के व्यक्तित्व विकास पर जोर देता है |   हाल ही में विद्यालय ने कुशल अध्यापकों के मार्गदर्शन से “अंतर विद्यालयी विज्ञान प्रतियोगिता” जो की हरगोविंद सुयाल सरस्वती विद्या मंदिर में आयोजित की गई में प्रथम स्थान प्राप्त किया |

डी पी एस हल्द्वानी, लामाचौड विद्यालय में ग्रीष्मकाल या अन्य दिवसों में भी योग्य प्रशिक्षकों के मार्गदर्शन में विद्यालय तरणताल का उपयोग विद्यार्थियों की तैराकी कौशल में वृद्धि हेतु तैराकी सिखाकर प्रतियोगिताओं का आयोजन निःशुल्क व नियमित रूप से करता रहा है | विद्यालय में शैक्षिक एवं अनेक व्यक्तित्व विकास संबंधी गतिविधियों के कारण तैराकी को सीमित रूप से आयोजित किया जाता रहा हैं जिससे बाकी गतिविधियाँ प्रभावित न हों तथा विद्यालय के अभिभावकों द्वारा अपने पाल्य के साथ सुबह और शाम के समय इस सुविधा का लाभ निःशुल्क लिया जा सकता है |

डी पी एस हल्द्वानी, लामाचौड विद्यालय प्राकर्तिक सम्पदा में संरक्षण एवं उपहार रूप स्वच्छ वातावरण में गतिविधि को पूर्णता प्रदान करता है | विद्यालय समय समय पर अनेक शिक्षाविदों एवं योग्य संचालकों के द्वारा विद्यालय की शेक्षणिक एवं पाठ्य सहगामी क्रियाकलापों को सकारात्मक दिशा देता है | विद्यालय में नियुक्त शेक्षणिक प्रमुख एवं वरिष्ट विद्यालय सलाहकार डॉ. एन. एस. भैसोड़ा जो की लम्बे समय से केंद्रीय विद्यालय संगठन में प्राचार्य पद पर अपनी सेवाएं प्रदान कर चुके हैं | उन्होंने खेलों के सन्दर्भ में वक्त्यव्य देते हुए कहा कि “ विद्यार्थी के जीवन खेलों का महत्व सर्वोपरि है | विद्यार्थी खेलों के माध्यम से ही अपने शारीरिक एवं मानसिक विकास के सुद्रढता प्रदान करता है |

समस्त विजेता एवं उपविजेता विद्यार्थिओं को पुरष्कार वितरित करते हुए विद्यालय के मेंटर डॉ. एम. सी. जोशी ने सभी विजेता, उपविजेता एवं प्रतिभागी विद्यार्थियों को शुभकामनायें प्रदान की | साथ ही खेल प्रशिक्षकों क्रमशः श्रीमती दीपा जोशी, श्री विनोद जोशी, श्री शमशेर अली तथा कुमारी तनीशा डसीला को सभी विद्यार्थियों के खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने हेतु धन्यवाद दिया |  विद्यालय के निदेशक श्री तुषार उपाध्याय ने अपने संभाषण से विद्यार्थियों को अभिप्रेरित करते हुए कहा कि “ बच्चे अपनी हम उम्र के बच्चों के साथ खेलने में रूचि लेते है | वस्तुतः देखा जाय तो बच्चों के सामजिक विकास में समव्ययस्क साथियों का अत्यन्त महत्वपूर्ण सहयोग रहता है | साथियों के साथ जहाँ वह विभिन्न खेल सीखता है वहीँ दूसरी और बहुत सारी सामान्य जानकारियाँ भी प्राप्त करता है और उसके दृष्टिकोण से परिचित होकर सद्व्यहार सीखता है | यह सर्वविदित है की आज के बच्चे ही कल के कर्णधार बनेगें | अतैव उन्हें सुमार्गगामी, सद्गुणी, चरित्रवान बनाना राष्ट्र की एक सच्ची सेवा भी है|”

इस प्रकार डी पी एस हल्द्वानी, लामाचौड़ में दो दिवसीय खेल प्रतिस्पर्धा का सफल समापन हुआ | विद्यार्थियों ने प्रतिस्पर्धा से परिश्रम, लगन एवं समय प्रबंधन आदि गुणों को अपने चरित्र में  सजोयाँ |