दिल्ली : दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने किडनैपर्स के चंगुल से अगवा छात्र को सुरक्षित छुड़ा लिया। बीती रात क्राइम ब्रांच की टीम ने किडनैपर्स से मुठभेड़ कर छात्र को मुक्त कराया। मुठभेड़ में तीनों किडनैपर्स को पुलिस ने पकड़ लिया । दिल्ली के शाहदरा इलाके से 25 जनवरी को स्कूल बस के ड्राइवर को गोली मारकर बदमाशों ने पांच वर्षीय छात्र का अपहरण कर लिया था। 26 जनवरी से ठीक एक दिन पहले राजधानी में घटी इस घटना ने सनसनी मचा दी थी. क्राइम ब्रांच के DCP राम नाईक के नेतृत्व में यह ऑपरेशन चलाया गया।

मुठभेड़ के दौरान एक किडनैपर की गोली लगने से मौत हो गई। वहीं एक किडनैपर पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया. उसे जीटीबी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। तीसरे किडनैपर को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने तीनों किडनैपर्स की पहचान रवी, पंकज और नितिन के रूप में की है. रवि की मौत हो गई, जबकि पंकज घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती है। नितिन पुलिस की गिरफ्त में है।

पुलिस के मुताबिक, किडनैप करने के बाद तीसरे दिन 28 जनवरी को जब किडनैपर्स ने बच्चे के परिवार से 60 लाख की फिरौती मांगी, तो किडनैपर्स द्वारा किए गए कॉल को ट्रेस कर दिल्ली पुलिस ने उनका सुराग लगा लिया। आखिरकार 12 दिन की मशक्कत के बाद पुलिस को किडनैपर्स की सही लोकेशन का पता लगा। बच्चे को उसके परिजनों को सौंप दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है ।

अापको बताते चलें कि 25 जनवरी की सुबह  एक निजी स्कूल में पढ़ने वाला छात्र अपनी बहन के साथ स्कूल जाने के लिए बस में सवार हुआ । उस बस में करीब 15-20 बच्चे सवार थे। इसी बीच रास्ते में बाइक सवार बदमाशों ने स्कूल बस पर धावा बोल दिया। बस ड्राइवर को गोली मारने के बाद अंदर घुसे और बच्चे को अपने साथ लेकर वहां से फरार हो गए. हालांकि बस में ही सवार बच्चे की बहन को बदमाशों ने कुछ नहीं किया, केवल बच्चे को लेकर फरार हो गए ।