नई दिल्ली। सिम की काला बाज़ारी रोकने के लिए केन्द्र सरकार ने अहम फैसला किया है। सिम कार्ड खरीदने के लिए ग्राहकों के अंगूठे का निशान प्रूफ के तौर पर लिया जाएगा। सिम कार्ड खरीदने के लिए सत्यापन के तौर पर आधार कार्ड को नंबर से लिंक किया जाएगा। इस नियम के आने के बाद नंबर एक ही दिन में एक्टिवेट होगा। टेलीकॉम कंपनियों ने सरकार की इस पहल का स्वागत किया है। ये प्रकिया सितंबर के अंत तक शुरू हो जाएगी। आधार कार्ड होने की स्थिति में आपको सिम खरीदते वक्त किसी और दस्तावेज की जरूरत नही पड़ेगी। बायोमीट्रिक मशीन पर अंगूठे का निशान लिया जाएंगा  फिर निशान को ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से जुड़ी मशीन खुद ही आधार कार्य से उससे मैच करेगी।

दूरसंचार मंत्रालय की ओर से आ रही खबर के अनुसार इस व्यवस्था के अतर्गत सिम हाथों-हाथ शुरू हो जाएगा और पहले से शुरू हुए सिम को कपंनिया नही बेच पाएंगी। इसके साथ ही सिम का शुल्क भी घटने के आसार है और ग्राहक के सत्यापन में आ रहे खर्च में भी कमी आएगी।