पाकिस्तान में नरक जैसी हो गई हिंदू लड़कियों की जिंदगी, एक और जबरन धर्मांतरण का मामले आया सामने

100

 

नई दिल्ली: पाकिस्तान में हिंदुओं की स्थिति दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। पाकिस्तान में एक बार फिर से एक हिन्दू लड़की का जबरदस्ती मुस्लिम बनाया गया। इस घटना के बाद एक बार फिर पाकिस्तान में हिन्दुओं के मानवधिकार का गला घोटा गया। हिन्दू लड़की निशा को जबरन इस्लाम कबूल कराया गया और उसकी शादी मुस्लिम लड़के से कर दी गई। मीडिया में आई रिपोर्ट्स के अनुसार पहले निशा को अगवा किया गया और जबरन उसका धर्मांतरण कर दिया गया। यह मामला सिंध के घोटकी जिले के भरचंडी इलाके का है।

मीडिया को मिली जानकारी के मुताबिक अकील इलाके की मंदिर वाली गली में रहने वाली निशा का धर्मांतरण करके उसके नाम सकीना कर दिया गया है। इसके अलावा सकीना से जबरदस्ती कहलाया गया है कि उसने अपनी इच्छा से इस्लाम कबूल किया है और उसने एक मुस्लिम युवक से निकाह भी कर लिया है। निशा के पिता दीवान मल ने पुलिस में इसकी शिकायत की है। इसके साथ ही इलाके के रसूखदार मुसलमानों से बेटी की साथ हुई ज्यादती की गुहार लगाई। मानवाधिकार कार्यकर्ता कपिलदेव सिंधी ने भी आरोप लगाया है कि निशा को जबरन मुस्लिम बनाया गया है।

Image result for पाकिस्तान में निशा

पत्रकार मुस्तफा जटोई ने सकीना बनी निशा की फोटो के साथ ट्वीट करके कहा है कि कोई मुझे बताएगा कि हिन्दू समुदाय की केवल लड़कियां ही इस्लाम क्यों अपना रही हैं? कोई हिन्दू लड़का ऐसा क्यों नहीं करता? वहीं, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी से जुड़े जफर शाह ने ट्वीट किया है कि क्या निशा को जबरन सकीना बनाना पाकिस्तान में हिन्दुओं का संहार नहीं है? उन्होंने अपने ट्वीट में पार्टी की जानी-मानी नेता शेरी रहमान को भी टैग किया है। इस घटना पर किसी सियासी दल या पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। निशा या उसके पिता की मदद के लिए कोई आगे नहीं आ रहा है। हिंदुओं की ओर से लगातार सोशल मीडिया पर इस बात के पोस्ट आते हैं कि पाकिस्तान उनके लिए नरक से कम नहीं हैं।