दिल्ली : राजौरी जिले के भीमबेर और मंझाकोट सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से भारी गोलाबारी जारी है। इस गोलाबारी में अब तक भारतीय सेना का एक अफसर और तीन जवान शहीद हो गए हैं। क्षेत्र के 84 स्कूल फिलहाल बंद कर दिए गए हैं।कुछ दिन की खामोशी के बाद रविवार को फिर से पाक सेना ने नियंत्रण रेखा पर सीजफायर का उल्लंघन किया। राजौरी जिले के भीमबेर और मंझाकोट सेक्टर में भारी गोलाबारी की। इस गोलाबारी में लेफ्टिनेंट समेत चार जवान शहीद हो गए। वहीं गोलाबारी में तीन जवानों समेत पांच लोग भी घायल हुए हैं।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की तरफ से रूक-रूककर रातभर गोलीबारी हुई। भारतीय सेना भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। भारतीय सेना के जवानों की पकिस्तान की ऊंचाई पर स्थित रिंगकंटूर और नेजापीर चौकियों के आसपास भीषण आग लग गई, जिससे पाकिस्तानी सेना को भारी नुकसान उठाना पड़ा है।

https://platform.twitter.com/widgets.js

क्षेत्र में बसने वाले लोगों का कहना है कि जवाबी कार्रवाई से पाकिस्तान अधिकृत शाहपुर और कीरन क्षेत्र में धुआं ही धुआं दिखाई दे रहा था। इसके पहले उसने रविवार सुबह भी पुंछ जिले के शाहपुर सेक्टर में भारी गोलाबारी की थी जिसमें सेना का एक जवान व दो ग्रामीणों गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

घायल सेना के जवान की पहचान 278 आर्टलरी बटालियन के गनर किशोर कुमार मुन्ना के रूप में हुई है। उसका पुंछ के सैन्य अस्पताल में इलाज चल रहा है। घायल लड़की गुलनाज अख्तर (15) और यासीन आरिफ (14) निवासी इस्लामाबाद को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शहीदों की पहचान 15 जेकलाई के लेफ्टिनेंट कपिल कंडू (गांव-रनिसका, तहसील-पटौदी, जिला-गुड़गांव), रायफल मैन राम अवतार (गांव-बराका, ग्वालियर), रायफलमैन शुभम सिंह (गांव-मुकुंदपुर चौधरियां, तहसील-मढ़ीन, कठुआ) और हवलदार रोशन लाल (गांव-निकोलस, तहसील-घगवाल, जिला-सांबा) के रूप में हुई है।

सूचना है कि शहीद व घायल सभी सेना की बारूद पोस्ट पर तैनात थे।