नई दिल्ली। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में (पीओके) में एक बार फिर लोगों ने पाकिस्तानी सेना की ज्यादती के खिलाफ आवाज उठाई है। बड़ी संख्या में पीओके स्थित गिलगित-बाल्टिस्तान में लोग सड़कों पर उतर कर अपने गुस्से का इजहार कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे नाराज स्थानीय लोगों का कहना है कि पाकिस्तानी सेना ने 500 युवाओं को इसलिए हिरासत में ले लिया है क्योंकि उन्होंने सेना को गिलगित छोड़ने को कहा था। यह पहला मौका नहीं है जब गिलगित-बाल्टिस्तान में इस तरह के विरोध प्रदर्शन हो रहे हों, इससे पहले भी कई बार वहां के लोग पाकिस्तानी सेना के बढ़ते अत्याचारों के खिलाफ सड़कों पर आ चुके हैं।समाचार एजेंसी के मुताबिक पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में लोग सड़कों पर उतर आए हैं और नवाज शरीफ की सरकार के खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहा है। पाकिस्तान अधिकृत गिलगित-बाल्टिस्तान में स्थानीय लोग पाकिस्तानी सुरक्षा बलों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

प्रदर्शनकारी पाकिस्तान से एक्टिविस्ट बाबा जान की रिहाई की मांग कर रहे हैं। आक्रोशित प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर नौजवान हैं और ये लोग पाकिस्तान फौज से गिलगित छोड़ने को कह रहे हैं। इनका कहना है कि पाकिस्तानी फौज ने 500 से ज्यादा युवाओं को जेल में डाल दिया है।