नई दिल्ली: भारतीय सिनेमा में देशी गर्ल के नाम से विख्यात प्रियंका चोपड़ा अपनी एटिंग का लोहा केवल भारत में नहीं बल्कि विदेशों में भी मनवा चुकी है। मौजूदा वक्त पर उनकी हॉलीवुड में खासा डिमांड रहती है। अपनी मेहनत से उन्होंने विदेशों के टीवी सीरियल और हॉलीवुड की फिल्मों में काम किया और वहां भी अपने नाम का लोहा मनवाया। प्रियंका को विदेशों से भी खूब प्यार मिलता है जिसका उदाहरण हमें सोशल मीडिया पर दिखाई देता रहा है। लेकिन प्रियंका ने एक इंटरव्यू में बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि रंग के आधार पर होने वाले भेदभाव के कारण उनके हाथ से एक हॉलीवुड फिल्म में उन्हें काम नहीं दिया गया। प्रियंका ने  इंटरनेशनल मैगज़ीन को दिए इंटरव्यू में कहा कि पिछले साल मैंने अपने स्किन कलर की वजह से हॉलीवुड में एक मूवी गंंवाई है। इसके बाद मै खासा मायूस थी। स्टूडियो से किसी ने मेरे मैनेजर को कॉल कर कहा, उनकी फिजिकैलिटी सही नहीं है। इसका मतलब मुझे समझ नहीं आया क्या था, जब मुझे मेरे मैनेजर ने समझाया कि फिल्म मेकर्स को उनकी फिल्म के लिए ब्राउन चेहरा नहीं चाहिए तो उन्हें सब कुछ समझ में आ गया।”

Image result for priyanka chopra

बता दे कि प्रियंका इससे पहले भी रंगभेद का शिकायर हुई है।  प्रियंका ने पढ़ाई के लिए प्रियंका ने US के एक स्कूल में एडमिशन लिया था, लेकिन जब वो स्कूल में पढ़ती थीं तो सब उन्हें ब्राउनी कहकर बुलाते थे। उन्होंने कहा कि  हम भारतीय सिर हिलाकर बात करते हैं तो हमारा मजाक उड़ाया जाता है। हम घर पर जो खाना बनाते हैं, उस खाने की महक का मजाक उड़ाया जाता है। इस तरह के तानों से छुटकारा पाने के लिए मैने अमेरिका छोड़ दिया था और भारत आ गई थी। फिल्मी दुनिया में ये कोई नई बात नहीं है इससे कुछ साल पहले बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी भी रंगभेद और नस्लभेद की शिकार हुई थीं। जब वह एक अंतर्राष्ट्रीय टीवी शो बिग ब्रदर का हिस्सा बनी थीं।