बदलेंगे दिन और दो माह के अंदर हर हॉस्पिटल में होगा डॉक्टर:सीएम त्रिवेंद्र रावत

88

हल्द्वानी: उत्तराखण्ड की स्वास्थ्य सुविधाओं पर लगा ग्रहण हटने वाला है। नए साल की शुरुआत में सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि है कि राज्य में स्वास्थ्य ढांचे को सुधारा जाएगा। इस कड़ी में राज्य भर के सरकारी हॉस्पिटलों में दो महीने के अंदर डॉक्टरों की भर्ती की जाएगी। देशभर के दो हजार चिकित्सकों ने अपनी सेवाएं राज्य को देने के लिए आवेदन किया है।

उन्होंने विश्वास दिलाया कि अगले दो माह के अंदर प्रदेश का कोई भी अस्पताल चिकित्सकों से खाली नहीं रहेगा।इस मौके पर गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत, जिलापंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा, देहरादून के भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर, श्याम डोभाल, प्रमुख चंदन पंवार, किशोर भट्ट, सुधा गुप्ता, जयेन्द्री राणा, नारयण सिंह चौहान, हरीश डंगवाल, बालशेखर नौटियाल, सलीम खान, पवन नौटियाल, सुरेश चौहान, डीएम आशीष चौहान, सीडीओ विनीत कुमार मुख्य कृषि अधिकारी महिधर सिंह तोमर सहित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

बुखार में कामयाब है ये होम्योपैथिक इलाज, जरूर देखें

मंगलवार को सीएम त्रिवेंद्र रावत उत्तरकाशी के रामलीला मैदान में आयोजित कृषि महोत्सव 2018 में पहुंचे।जिला प्रशासन व कृषि विभाग की ओर से आयोजित कृषि विकास मेले का शुभारंभ  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने किया। इस दौरान उन्होंने लोक निमार्ण विभाग के विश्व बैंक खंड की 37 करोड़ 88 लाख 66 हजार की बिभिन्न योजनाओं का लोकापर्ण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि  सरकार राज्य के उत्पादों को ब्रांड बनाने पर जोर दे रही है। पशुपालन को लेकर उन्होंने कहा कि हम लोग मुर्गी पालन, गाय पालन, सहित मौन पालन को अपना रहे हैं। लेकिन आज मांग भेड़ पालन की है।

कहा कि पहाड़ का आदमी भेड़ पालन से अच्छी आजीविका प्राप्त कर सकता है। कहा कि हर्षिल की राजमा की मांग आज पूरे देश में है, यदि इसकी ठीक ढंग से ब्रांडिंग की जाए तो काश्तकारों को 250 रुपये प्रतिकिलो तक की कीमत प्राप्त हो सकती है।सीएम ने कहा कि मधुमक्खी का शहद देश की राजधानी दिल्ली में अच्छे दामों पर बिक रहा है। उन्होंने समूह बनाकर इसके उत्पादन करने की बात की और कहा कि इसकी ब्रांडिंग के लिए वह मशीनें उपलब्ध कराएंगे।

जब होगा दूर पायरिया तब नहीं होगा दांतों में दर्द, जरूर देखें

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ऑल वेदर रोड़ को विषय पर कहा कि को सरकार ढ़ाई साल में ऑल वेदर रोड़ का काम पूरा कर देगी। सीएम ने कहा कि उत्तराखण्ड में ऑलवेदर रोड का काम तेजी से चल रहा है। सरकार इसकी लगातार निगरानी कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अगले ढाई साल के भीतर इसका काम पूरा करने का लक्ष्य रखा है। वहीं ऑलवेदर रोड को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार इस पर तेजी से कार्य कर रही है। सरकार को अगले ढाई साल में इसे पूरा करना है। कहा कि फरवरी माह में इस पर तेजी से कार्य शुरू कर वर्ष 2019 तक ऑलवेदर रोड पर अधिकांश कार्य कर लिया जायेगा। कहा कि ऑलवेदर रोड के बनने से पर्यटकों की आवाजाही बढ़ेगी और स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। कहा कि अगले दस माह के अंदर सरकार एक नया कार्य शुरू करने जा रही है। जिसमें पीरूल से तारपीन का तेल व डीजल बनाने का काम किया जा रहा है। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों से पांच रूपये किलो के हिसाब से पीरूल खरीदा जायेगा।