बीमारी से ग्रस्त 9वीं के छात्र ने पिता की पिस्टल से खत्म की जीवनलीला

47

हरिद्वार: शहर के ज्वालापुर इलाके में नवीं कक्षा के छात्र ने अपनी बीमारी से छुटकारा पाने के लिए पिता की लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मार ली। सिर में गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि छात्र करीब आठ साल से बीमार था। इस बीमारी के कारण वो मानसिक दवाब से ग्रस्त हो चुका था।इसी के चलते उसने आत्महत्या कर ली। मृतक छात्र का नाम सात्विक है।

घटना रविवार की है। ज्वालापुर निवासी तीर्थ पुरोहित श्वेतपाल शर्मा का 14 वर्षीय बेटा सात्विक शर्मा रानीपुर स्थित डीपीएस स्कूल की 9वीं कक्षा का छात्र था। वह करीब आठ साल से बीमार था। इस बीमारी के कारण उसके हाथ-पांव में कंपन होती थी। उसका इलाज चल रहा था। परिजनों ने पुलिस को बताया कि रविवार देर शाम सात्विक कमरे में गया और अपने पिता की लाइसेंसी पिस्टल से खुद के सिर में गोली मार ली। जब परिजनों ने गोली चलने की आवाज सुनी तो वह उसके कमरे में गए जहां वह मृत पड़ा मिला। छात्र ने अपने सिर पर गोली मारी।

परिवारीजनों की चीख पुकार सुन पड़ोस के लोग भी वहां आ गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटनाक्रम की जानकारी ली। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए शव कब्जे में ले लिया, लेकिन परिवार वाले इसके लिए तैयार नहीं हुए। उन्होंने एंबुलेंस से शव उतरवाकर घर पर रखवा दिया। कार्यवाहक कोतवाल संजीव थपलियाल ने बताया कि शव फिलहाल परिजनों की सुपुर्दगी में दे दिया गया है। सुबह पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम कराया जाएगा।