हल्द्वानी : एक युवक काम की तलाश में निकला, लेकिन शाम होते उसकी लाश एक बोरे में मैदान में पड़ी हुई मिली। उसकी पहचान हुई तो परिवार में कोहराम मच गया। बोरे में मिले शव की शिनाख्त कर ली गई है। हरिद्वार जिले के मंगलौर से पहुंचे परिजनों ने मृतक की शिनाख्त अनीस मलिक (28) पुत्र रईश मलिक के रूप में की है। उनके मुताबिक अनीस पेंटिंग का काम करता था और काम की तलाश में ही श्रीनगर आया था।

बता दें कि 29 जनवरी रात करीब साढे़ 9 बजे जीआईएंडटीआई मैदान के संपर्क मार्ग पर सफेद बोरे में एक युवक का शव बरामद हुआ था। युवक का एक तरफ का चेहरा  कुत्तों ने बुरी तरह नोंच दिया था, जिससे शक्ल साफ नहीं दिख रही थी। मृतक के पास मोबाइल फोन या अन्य पहचान से संबंधित कोई अन्य प्रमाण भी नहीं मिलने से मृतक की शिनाख्त पुलिस के लिए चुनौती बन गई ।

पुलिस ने चेहरे के खराब हिस्से का स्कैच तैयार कर सोशल मीडिया में डालने के साथ ही पोस्टर भी तैयार किए थे। सोशल मीडिया और पोस्टर के माध्यम से ही मृतक के परिजनों तक सूचना पहुंच सकी। शुक्रवार को मृतक के परिजन मंगलौर से कोतवाली श्रीनगर पहुंचे। मृतक के छोटे भाई वसीम मलिक ने कपड़ों आधार पर अनीस की शिनाख्त की। वसीम ने बताया कि उसका भाई अनीस पेंटर का कार्य करता था। वह 28 जनवरी को घर से काम की तलाश में चला था।

अनीस की गुमशुदगी मंगलौर कोतवाली में दर्ज कराई गई थी। पोस्टर और सोशल मीडिया पर फोटो देखने पर मंगलौर पुलिस ने कोतवाली श्रीनगर को अनीस की गुमशुदगी दर्ज होने के बारे में बताया। इसके बाद अनीस के परिजनों भी संपर्क होने के बाद परिजनों ने अनीस की शिनाख्त की। कोतवाल एनएस बिष्ट ने बताया कि शव की शिनाख्त के बाद अब पुलिस अनीस की कॉल डिटेल खंगाल रही है।पुलिस के मुताबिक जल्द ही आरोपी उसकी गिरफ्त में होंगे।