राजस्थान में हुए उपचुनाव में कांग्रेस को मिली जीत

68

नई दिल्ली : नए साल पर राजस्थान में हुए उपचुनाव में कांग्रेस को प्रदेश की जनता ने तोहफा दिया है। उपचुनाव में भाजपा ने अपनी तीनों सीटें खो दी हैं और कांग्रेस ने सभी को चौंकाते हुए इन सभी पर  कब्जा जमा लिया है। कांग्रेस के जयपुर स्थित मुख्यालय सहित सभी जिला कार्यालयों में आतिशबाजी चल रही है। कहा जा सकता है कि राजस्थान उप चुनाव ने कांग्रेस के लिए होली से पहले ही दीपावली ला दी है।

कांग्रेस ने अलवर व अजमेर लोकसभा सीटों और मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर हुआ उपचुनाव जीत लिया है। इधर, भाजपा की बुरी तरह से हार को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने समीक्षा बैठक शुरू कर दी है। एेसे में राजस्थान के जयपुर स्थित भाजपा मुख्यालय में सन्नाटा पसर गया है। उधर, कांग्रेस मुख्यालय में खुशी की लहर दौड़ गई है ।

माण्डलगढ़ विधानसभा सीट भी कांग्रेस ने अपने कब्जे में ले ली है। यहां कांग्रेस ने 12,976 मतों से जीत दर्ज की है। इस सीट पर कांग्रेस के विवेक धाकड़ को 70,146 वोट तथा भाजपा के शक्ति सिंह हाड़ा को 57,170 वोट मिले हैं। बीते 29 जनवरी को अलवर व अजमेर लोकसभा और मांडलगढ़ विधानसभा के लिए मतदान हुआ था।

 अलवर, अजमेर लोकसभा व मांडलगढ़ विधानसभा में उपचुनाव यहां के जन प्रतिनिधियों के निधन के कारण हुए हैं। अलवर से सांसद रहे महंत चांदनाथ और अजमेर सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री रहे सांवरलाल जाट का निधन बीते वर्ष बीमारी के कारण हो गया था। जबकि मांडलगढ़ विधायक कीर्ति कुमारी की भी स्वाइन फ्लू के चलते मृत्यु हो गई थी।

राजस्थान में अलवर, अजमेर लोकसभा व मांडलगढ़ विधानसभा के ​लिए 29 जनवरी को मतदान हुआ था।