हल्द्वानी: बुधवार को रामनगर में हुए दर्दनाक हादसे ने कोहराम मचा दिया। इस हादसे में एक परिवार के 4 लोगों की मौत हो गई और 2 घायल हो गई। कार सिचाई विभाग की नहर में गिर गई जिसमें 6 लोग सवार थे। बताया जा रहा है कि  पर्यटक नैनीताल से घूमकर अपने शहर काशीपुर लौट रहे थे। परिवार को क्या पता था लेकिन ये यात्रा उनके लिए काल साबित होने वाली है। हादसे में काशीपुर के राइस मिलर, उनकी पत्नी, बहन और जीजा की मौत की खबर ने पूरे शहर को स्तब्ध कर दिया। दंपति की मौत की खबर पाकर  आवास पर रिश्तेदारों और परिचितों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया।

कार में सवार चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि अन्य कार में घायलों के परिचित थे और उनके शोर मचाने के बाद ग्रामीणों की मदद से पुलिस और 108 एंबुलेस को बुलाया गया।

चिकित्सकों ने तेज प्रकाश अरोरा पुत्र दूल चंद्र और उनकी पत्नी रश्मि अरोरा निवासी काशीपुर, डॉक्टर शांति स्वरूप पुत्र रामजी दोसा निवासी नाडियाल गुजरात और उनकी पत्नी किसनु सतरिया को मृत घोषित कर दिया जबकि गंभीर रूप से घायल महिला चंचल मदान और चंदन बाल किशन निवासी गुजरात को हायर सेंटर रेफर किया गया है।

घटना के बाद शहर के तमाम लोगों के साथ ही कोतवाल विक्र्तम राठौर, एसएसआई राहुल राठी भी अस्पताल पहुंचे। कोतवाल ने बताया कि शवों का पोस्टमार्टम बृहस्पतिवार को किया जाएगा।मृतक अरोरा दंपति के परिवार में एक बेटा सागर (22) और बेटी सगारिका (19) है। बेटा बिजनेस ही संभालता है। तेजप्रकाश ने तीन अन्य राइस मिलें भी ठेके पर ली थीं। बेटी सगारिका नोएडा एमएटी से बीबीए कर रही है।

चार दिन पहले यानी 28 जनवरी को ही अरोरा दंपति ने रामनगर रोड स्थित एक होटल में अपनी शादी की सिल्वर जुबली धूमधाम से मनाई थी। इसमें परिवार के लोगों के अलावा करीबी लोग मौजूद रहे। नए घर में आकर परिवार के सभी लोग खुश थे। खुशी के इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए बुधवार की सुबह तेजप्रकाश अरोरा अपनी पत्नी रश्मि अरोरा, जीजा डॉ. शांतिस्वरूप, दीदी किसनू आदि करीब दर्जन भर लोगों के साथ दो गाड़ियों से नैनीताल घूमने गए थे। वापसी में रामनगर के बैलगढ़ के पास उनकी अर्टिगा कार संख्या (यूके18ई/7555) सिंचाई विभाग की नहर में पलट गई।