हल्द्वानी। रोडवेज के 6 कर्मचारी संगठनों में से  एक उत्तरांचल परिवहन मजदूर संघ ने मंगलवार से काठगोदाम में आरएम दफ्तर के बाहर धरने की शुरूआत कर दी है। धरने के पहले दिन हल्द्वानी,काठगोदाम,रुद्रपुर,काशीपुर,भवाली और अल्मोड़ा के कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। संघ के महामंत्री ने निगम पर आरोप लगाते हुए कहा कि सभी नीतिया कर्मचारी विरोधित है। इसी कारण हम अपने हक के लिए धरने में बैठे है। अगर हमारी मांग पर गौर नही किया गया तो ये धरना आगे भी जारी रहेंगा। इस दौरान धर्मानंद जोशी, बालकृष्ण शर्मा सहित 80 से अधिक कर्माचारी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि निगम में हो रहे भ्रष्टाचार ने ग्राहकों के साथ खुद निगम परिवार को निगल लिया है।

 

मजदूर संघ ने अपनी मांग में कहा है कि पद के अनुसार कार्य करने के फैसले को सबसे पहले अधिकारी स्तर से लागू किया जाए। निगम को भ्रष्टाचार बंद हो इस कारण कई कर्मचारियों का शोषण होता है। बस बेड़े जल्द-जल्द छीक किए जाए। पहाड़ी क्षेत्रों में बसों की संख्य को बढ़ाया जाए साथ ही बंद हुई बसों को स्टार्ट किया जाए। एसी और वॉल्वों का ठीक से रखरखाव हो। संविदा में काम करने वालों को पक्का किया जाए।