लखनऊ नगर निगम चुनाव पर लगे विवाद के दाग, नामांकन रद्द होने से प्रत्याशी ने खोला मोर्चा

लखनऊ:नगर निगम चुनाव के नामांकन के अंतिम दिन विवाद पैदा हो गया है। उम्मीदवार के नामाकंन को अंतिम दिन खारिज करने से निकाय चुनाव पर विवाद का दाग लग गया है। लखनऊ नगर निगम चुनाव में अलीगंज लखनऊ वार्ड 65 से सभासद की उम्मीदवार श्रीमती नीलम तिवारी पत्नि श्री रामदीन तिवारी ने नामांकन भरा था। नामांकन 6 और 7 नवंबर को दाखिल किया गया। उस वक्त नामांकन पत्रों के परीक्षण के दौरान उसे उचित पाया गया। लेकिन उसके अगले दिन निवार्चन अधिकारी ने उसे रद्द कर दिया। इसके पीछे मतदान सूची में नाम ना होने का कारण दिया गया। वहीं प्रत्याशी नीलम तिवारी ने बताया है कि उनका नाम मतदाता सूची में शामिल है।

प्रत्याशी नीलम तिवारी ने इसके पीछे साजिश का आरोप लगया है। उनके अनुसार जिस क्षेत्र से वह चुनाव लड़ रही है वो ब्राह्मण बाहुल्य क्षेत्र है। वो चुनाव जीतने की रेस में भी शामिल है लेकिन नकारात्मक ताकतों ने उनके खिलाफ इस तरह की साजिश रची है। उन्होंने अपने नामांकन की सभी कागजों की पुन: जांच की बात कही है। नीलम तिवारी ने कहा कि अगर कोई गड़बड़ी है तो उसे सार्वाजिक किया जाए। लेकिन अगर उनके नामांकन दस्तावेज सही पाए जाते है तो कोर्ट का दरवाजा खटकटाएंगी। उन्होंने इस कार्यवाही को पूरा होने तक चुनाव स्थागित करने की मांग की है। इस विषय में उन्होंने राज्य निवार्चन आयुक्त, आयुक्त लखनऊ, डीएम लखनऊ, नगर आयुक्त निगम, उपजिलाधिकारी लखनऊ और निवार्चन अधिकारी पार्षद को पत्र लिख कार्रवाई की मांग की है।