लालकुआं। किराये बढोत्तरी को लेकर पोस्ट ऑफिस अधिकारियो के बीच हो रही खीचतान का खामियाजा पोस्ट ऑफिस  में चल रहे खाताधारकों को भुगतना पड़ रहा है।एक करोंड से अधिक टर्नओवर और  50 हजार से अधिक खाते वाले डाकघर लालकुआं पिछले 3 माह से मृतप्राय पड़ा हुआ है। पोस्ट आॅफिस की बिजली कट जाने के चलते कार्य ठप्प होने सेआक्रोशित उपभोक्ताओं  ने एक घंटे से अधिक समय तक हंगामा काटा जिन्हें बाद में पोस्टमास्टर ने बमुश्किल शांत किया।

लालकुआं क्षेत्र में स्थित 50 वर्ष पुराने एकमात्र पोस्टऑफिस जो वर्षो से एक भवन के किराये पर चलता आ रहा है तीन महीने से उसकी बिजली कटने से पोस्ट ऑफिस का कामकाज पूरी तरह ठप हो गया । पिछले तीन महीने में मात्र दो सप्ताह पोस्ट आॅफिस में विद्युत आपूर्ति सुचारू रही है। अन्य दिन कामकाज पूरी तरह ठप्प है। गुरूवार को यहां के खाता धारकों का धैर्य जब जवाब दे गया तो उन्होने पोस्ट आॅफिस में जबरदस्त हंगामा मचा दिया। पोस्टमास्टर हरीश चंद्र पांडे ने जब उनको समझाने का प्रयास किया तो उपभोक्ता और अधिक उग्र हो उठे। वह डाक अधिकारियों के विरूद्ध नारेबाजी कर रहे थे। लगभग एक घंटे बाद पोस्टमास्टर ने जल्द व्यवस्था दुरूस्त करने का आवासन देकर उन्हें बमुश्किल शांत किया।पोस्ट ऑफिस में ऑनलाइन सिस्टम हो जाने से खाता धारकों के खाते ऑनलाइन हो गए है परंतु पोस्टऑफिस और भवन स्वामी के बीच किराये की लेकर आपसी खींचतान में भवन स्वामी ने पोस्ट औफिस की बिजली काट दी जिसकी वजह से पोस्टऑफिस में रोज की तरह चलने वाला कामकाज रुक गया जिसकी वजह से खतधारको का एक करोड़ का लेनदेन बिच में ही अटक जाने से खाताधारको को बार बार चक्कर काटने पड़ रहे हे जिसको लेकर खाताधारक काफी परेशान है।पोस्टमास्टर हरीश चंद्र पांडे ने जब उनको समझाने का प्रयास किया तो उपभोक्ता और अधिक उग्र हो उठे। वह डाक अधिकारियों के विरूद्ध नारेबाजी कर रहे थे। लगभग एक घंटे बाद पोस्टमास्टर ने जल्द व्यवस्था दुरूस्त करने का आवासन देकर उन्हें बमुश्किल शांत किया।

20160804_163036

 पोस्टमास्टर हरीश चंद्र पांडे का कहना है कि पोस्ट आॅफिस का भवन स्वामी किराया बढ़ाने को कह रहा है जिसकी अनुमति प्रधान डाकघर देहरादून से मिलती है जोकि अभी तक नही मिली है जो किराया पूर्व में देय था वह मकान मालिक नही ले रहा है। वार्ता विफल होने के बाद मकान मालिक ने बिजली की लाइन भी काट दी है और न ही जनरेटर चलने देता है। जिसके चलते कामकाज पूरी तरह ठप्प हो गया है। उन्होने बताया कि कुछ आवयक कार्य वह ााम को हल्द्वानी जाकर वहां के कंप्यूटर में करते है। बांकी कार्य छूट रहे है। इधर प्रवर डाक अधीक्षक नैनीताल टीआर आर्या ने बताया कि वह लंबे समय से लालकुआं में डाकघर के लिए भवन तलाा रहे है। परंतु प्रधान डाकघर से किराये का पैसा अधिक होने के चलते अनुमति नही मिल रही है। अब उन्होने एक और प्रस्ताव बनाकर मुख्यालय को भेज दिया है। यदि वह स्वीकृत हो गया तो समस्या का समाधान हो जायेगा। उधर पोस्ट आफिस भवन के स्वामी मो. सहजाद खान का कहना है कि डेढ़ वर्ष पूर्व उनका पोस्ट आॅफिस से एग्रीमेंट समाप्त हो गया था। तब से वह न तो नया किराया बढ़ोारी का एग्रीमेंट बना रहे है और नही किराया दे रहे हैं। यहां तक कि डेढ़ वर्श से बिजली का बिल का भुगतान भी नही किया गया है जिसके चलते बिजली काटी गई है।

कुल मिलाकर लालकुुआं डाकघर से 2 लाख की आबादी प्रभावित है।यहां 50 हजार से भी अधिक खाता धारक है और 1500 से अधिक सुकन्या योजना के खाते हैं। साथ ही पोस्ट आॅफिस का महीने का टर्नओवर एक करोड़ रुपये से भी अधिक का है। इसके बावजूद विभाग पूरी तरह आंखे मूंदे बैठा है और जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इधर बिजली कट होने की वजह से पोस्ट ऑफिस के पोस्टमास्टर व् अन्य स्टाफ समय से पहले ही पोस्ट ऑफिस में ताला मार कर हल्दवानी पोस्टऑफिस में स्थित कम्यूटर से अपना काम निबटाने जाना पड़ रहा है और बाहर बरामदे पर काउंटर ने सिर्फ एक कर्मचारी को छोड़ कर जाना  क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।फ़िलहाल भवन स्वामी और पोस्टऑफिस अधिकारियो की आपसी खींचतान का खामियाजा खाताधारकों को भुगतना पड़ रहा है।