विजय हजारे ट्रॉफी: क्रिकेट के मैदान पर दिखा उत्तराखण्ड की प्रतिभा का ट्रिपल पावर

357

हल्द्वानी: क्रिकेट के खेल को आप उत्तराखण्ड से अलग कर ही नहीं सकते हैं। कोई भी प्रतियोगिता को उत्तराखण्ड का नाम सामने आ ही जाता है। अंडर-19 विश्वकप में कमलेश नगरकोटी और आर्यन जुयाल के बाद विजय हजारे ट्रॉफी में भी उत्तराखंडियों का शानदार प्रदर्शन जारी है। दिल्ली के बल्लेबाज उन्मुक्त चंद के यूपी के खिलाफ जबड़ा टूट जाने के बाद भी शानदार शतक जमाकर वाहवही लूटी। उन्मुक्त चंद शानदार फॉर्म में चल रहे है।

उन्होंने एक बार फिर ये साबित किया लेकिन इस बार एक मैच में उत्तराखण्ड का डबल धमाका देखने को मिला। उत्तराखण्ड के उन्मुक्त चंद और ऋषभ पंत की पारी की बदौलत दिल्ली ने विजय हजारे ट्रॉफी के दूसरे मैच में त्रिपुरा को को सात विकेट से हराया कर दिया। चंद ने 55 रनों की पारी खेली वही पंत ने 56 रन बनाए।

त्रिपुरा ने दिल्ली को जीत के लिए 299 रनों का लक्ष्य रखा था। लेकिन दिल्ली के बल्लेबाजों ने इससे 10 ओवर पहले ही पा लिया।दिल्ली की ओर से नितिश राणा ने 94 रनों बनाए। वहीं जितेन दलाल ने 76 रनों की पारी खेली।

विजय हजारे प्रतियोगिता में उत्तराखण्ड के कई खिलाड़ी खेल रहे है। उन्मुक्त चंद, ऋषभ पंत और पवन नेगी दिल्ली की ओर से खेल रहे है। वहीं हल्द्वानी के आर्यन जुयाल उत्तर प्रदेश और सौरभ रावत ओडिशा से खेल रहे है। 

इस मुकाबले में उत्तराखण्ड के तीनों खिलाड़ियों ने अपनी टीम के लिए योगदान दिया। ऋषभ और उन्मुक्त ने फिफ्टी बनाई तो पवन नेगी ने एक विकेट लिया। इस में ऋषभ पंत हीरों के तौर पर सामने आए। ऐसा इसलिए की उन्होंने एक बार फिर क्रिस गेल स्टाइल में अपनी पारी खेली। पंत ने मात्र 27 गेंदों में 56 रनों की पारी खेली। इस पारी में उन्होंने 9 चौके और 2 छक्के भी लगाए। वही उन्मुक्त चंद का फॉर्म शानदार चल रहा है । यूपी के खिलाफ 116 रनों की पारी खेलने के बाद उन्होंने एक बार फिर अपनी शानदार बल्लेबाजी का परिचय दिया।