हल्द्वानी। शहर में लंबे वक्त से शहीद स्मारक पार्क में राज्य का सबसे बड़ा ध्वज लगाने की कवायत पूरी हुई। हल्द्वानी के शहीद स्मारक पार्क में सबसे ऊंचा और बड़ा150 फिट ऊंचा भारतीय राष्ट्रीय ध्वज स्थापना भूमि पूजन के साथ हुई। भूमि पूजन के दौरान राजनीतिक मतभेदों को किनारे करते हुए  वित्त मंत्री डा0 श्रीमती इन्दिरा हृदयेश और मेयर डा0 जोगेन्द्रपाल सिंह रौतेला भूमि पूजा की।

इसी बीच कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए वित्त मंत्री डा0 हृदयेश ने कहा कि राष्ट्रध्वज हर देश की शान होता है। ध्वज हमारें भीतर देशभावना को जीवित रखता है। हम सभी देशवाशियों को अहने राष्ट्रध्वज का सम्मान करना चाहिए और  देश के विकास में अपना योगदान देना चाहिए। उन्होंने राष्ट्रध्वज की ताकत का उदाहरण देते हुए कहा कि इस ध्वज के कारण ही हमारे देश की एकता जीवित है। देश के लिए कई बहादुर सिपाहियों ने अपने जान की आहुति दी है। और उन्ही के बहादुर जज्बें के वजह से हम स्वतंत्र है।  भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को 22 जुलाई 1947 को संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था। जब भी हम अपने ध्वज को देखते है हमारे रोंगते खड़े हो जाते है। राष्ट्रध्वज हममें जोश का संचार करता है।

दूसरी ओर मेयर डा0 जोगेन्द्रपाल सिंह रौतेला ने कहा कि यह एक देश भावना का कार्य है और इसीलिए राजीनितक मदभेदों को दूर करते हुए हम एक साथ भारतीय होने के नाते अपने राष्ट्रध्वज को सलाम कर रहे है। उन्होंने कहा कि परिर्वतन एक संकल्प समिति काफी समय से इस कार्य के लिए प्रयासरत थी और उनकी मेहनत आज रंग लाई है। देश के शहिदों के लिए इससे अच्छी श्रद्धांजलि शायद ही कुछ हो। उन्होंने कहा कि मतभेद हर घर में होते है लेकिन हमारे मतभेदों का फायदा कुछ नकारात्मक ताकते उठाने का प्रयास करती है हमें उनसे सतर्क रहने की जरूरत है। देश का माहौल हम देशवासी तय करते है और जब देश की बात आती है तो हम साथ खड़े होते है। उन्होंने कहा कि शहर में आने वाले हर भारतीय को ये स्थान देशभावना से भर देगी। देश की गरिमा सर्वपरी है उसके साथ ना हमने समझौता किया है ना करेंगे।

इस मौके पर शहर के कई बड़े राजनेता और अफसर मौजूद रहे। कार्यक्रम में पूर्व पालिकाध्यक्ष रेणु अधिकारी, सिटी मजिस्ट्रेट हरबीर सिंह, उप जिलाधिकारी पंकज उपाध्याय के अलावा वरूण प्रताप भाकुनी, प्रेम चैधरी, राकेश कुमार अग्रवाल, नीरज बिष्ट सहित अनेक गणमान्य मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन प्रभाकर जोशी द्वारा किया गया।