नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान एक बार फिर आतंकवाद के मुद्दे को लेकर आमने सामने आ गए है। भारत ने आंतकवाद पर एक बार फिर पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने पाकिस्तान पहुंचे भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आतंकवाद इंसानियत का सबसे बड़ा खतरा करार दिया है। उन्होंने ने कहा कि अब आतंकवाद का खात्मा बेहद जरूरी हो गया है। उन्होंने काबुल, ढाका और पठानकोट में हुए आतंकी हमलों की नंदा करते हुए इसकों सार्क सम्मलेन में उठाया। पाकिस्तान सरकार ने अपने आप को बचाने के लिए सम्मेलन के दौरान मीडिया को राजनाथ सिंह के भाषण को कवर करने से रोक दिया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सार्क सम्मेलन में राजनाथ सिंह के भाषण को पूरी तरह से ब्लैकआउट कर दिया गया।

भारत ने आतंकवाद को लेकर एक बार फिर पाकिस्तान को लताड़ लगाई है।सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने पाकिस्तान पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को निशाने में लेते हुए आतंकवाद को सबसे बड़ा खतरा करार दिया है। राजनाथ सिंह ने सार्क सम्मेलन के दौरान कहा, “अच्छा-बुरा आतंकी कुछ नहीं होता, आतंकियों का महिमामंडन नहीं होना चाहिए, आतंकियों की सिर्फ निंदा ही काफी नहीं है”। साथ ही उन्होंने पाकिस्तान को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह आतंकियों को शहीद बताना बंद करे।