सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में एक बार फिर गरजा उत्तराखण्डी ऋषभ पंत का बल्ला

1178

हल्द्वानी: भारतीय क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी का नाम मौजूदा वक्त पर सबसे बड़ा है। धोनी ने अपने करिश्में करने की आदत से अपने क्रिकेट करियर को उड़ान दी है। धोनी जितने शानदार बल्लेबाज है उतने ही चतुर वो विकेट के पीछे है।बीसीसीआई धोनी के उत्तराधिकारी को खोज रहा है। इस लिस्ट में सबसे पहला नाम उत्तराखण्ड के ऋषभ पंत का नाम आता है। पंत ने अपने छोटे क्रिकेटिंग करियर में अपने को मिले हर मौके को भुनाया है। एक बार फिर ऋषभ पंत अपनी बल्लेबाजी के कारण सुर्खियों में है और साउथ अफ्रीका दौरे की वनडे सीरीज़ में अपने चयन के दावे को मजबूत कर रहे है।

फिर पंत के बल्ले ने बरसे रन

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में दिल्ली के विस्फोटक बल्लेबाज ऋषभ पंत का धमाकेदार प्रदर्शन जारी है। फिरोजशाह कोटला मैदान पर मंगलवार को खेले गए मैच में ऋषभ के 32 गेंदों पर 64 रनों की बदौलत दिल्ली ने सर्विसेस को 22 रनों से हरा दिया। दिल्ली की पांच मैचों में यह चौथी जीत है और उसकी जीत से पंजाब भी सुपर लीग में क्वॉलीफाई कर गया। वहीं, सर्विसेस को बाहर होना पड़ा है।

दिल्ली की जीत

टॉस सर्विसेस की टीम ने जीता और दिल्ली को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। दिल्ली के लिए यह फैसला अच्छा साबित हुआ और टीम ने 20 ओवरों में 8 विकेट खोकर 225 रन बना दिए। ऋषभ पंता ने 32 गेंदों की पारी में 11 चौके और एक छक्का जमाया। प्रदीप सांगवान ने भी 9 गेंदों पर 29 और ललित यादव ने 8 गेंदों पर 22 रनों की तेजतर्रार पारी खेली।इस लक्ष्य का पीछा करते हुए सर्विसेस की टीम 19.1 ओवरों में 203 रनों पर सिमट गई। दिल्ली की ओर से कुलवंत खेजरोलिया ने तीन जबकि प्रदीप सांगवान ने दो विकेट हासिल किए।

सबसे तेज शतक बनाने वाला भारतीय

बता दे कि इस प्रतियोगिता में पंत ने नाम विश्व रिकॉर्ड भी कायम किया है। उन्होंने हिमाचल प्रदेश के खिलाफ मात्र 32 गेंदों में शतक पूरा किया। पंत ने 38 गेंदों में 116 रनों की नाबाद पारी खेली। अपनी पारी में पंत ने 8 चौके और 12 छक्के जड़े। त ने सिर्फ 32 गेंदों में शतक लगाया। पंत का ये शतक टी20 क्रिकेट इतिहास का दूसरा सबसे तेज शतक है। खेल के इस फॉर्मेट में सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड क्रिस गेल के नाम है। गेल ने 2013 में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ सिर्फ 30 गेंदों में शतक जड़ दिया था।