देहरादून : देहरादून में चल रही 66वीं ऑल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स चैंपियनशिप में उत्तराखंड पुलिस के हरीश कोरंगा ने पांच हजार मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता है । इसी दौड़ में मुकेश रावत तीसरा स्थान प्राप्त कर कांस्य पदक जीतने में कामयाब रहे। पंजाब अंक तालिका में शीर्ष स्थान पर बना हुआ है।

 

महाराणा प्रताप स्पोर्टस कॉलेज रायपुर के सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रैक पर चल रही चैंपियनशिप में चौथे दिन उत्तराखंड की झोली में दो पदक आए। पुरुष वर्ग की पांच मीटर दौड़ में उत्तराखंड पुलिस के हरीश कोरंगा ने प्रथम स्थान हासिल करते हुए स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 14:33:23 मिनट में दौड़ पूरी की। बीएसएफ के गोवा राम (14:57:77 मिनट) ने रजत और उत्तराखंड पुलिस के मुकेश रावत (14:59:74 मिनट) ने कांस्य पदक जीता। जबकि उत्तराखंड पुलिस के ही राजेश कुमार चौथे स्थान पर रहे। महिला वर्ग की पांच हजार मीटर दौड़ में महाराष्ट्र की जयश्री बोरागी (16:52:74 मिनट) ने स्वर्ण, संगीता नाइक (17:06:15 मिनट) ने रजत और वर्षा भावरी (17:46:24 मिनट) ने कांस्य पदक जीता।

उत्तराखंड पुलिस के एथलीट कांस्टेबल हरीश कोरंगा को उत्तराखंड पुलिस की ओर से नये साल पर तोहफा दिया जाना तय है । ऑल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स चैंपियनशिप में दो पदक जीतते ही कोरंगा की हेड कांस्टेबल पद पर पदोन्नति तय हो गई है। उत्तराखंड पुलिस ने खेल कोटे से भर्ती खिलाड़ियों के लिए इस साल नई नियमावली तैयार करते हुए विभिन्न स्तर पर पदोन्नति के मानक तय किये हैं । उत्तराखंड पुलिस में खिलाड़ियों को एशियन, वर्ल्‍ड चैंपियनशिप और ओलंपिक में प्रतिभाग करने पर अधिकतम इंस्पेक्टर, नेशनल चैंपियनशिप में एक स्वर्ण या दो रजत या तीन कांस्य पदक जीतने पर सब-इंस्पेक्टर के पद पर पदोन्नति का प्रावधान है।

हरीश कोरंगा जूनियर नेशनल एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भी राज्य का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।। उत्तराखंड पुलिस के सचिव एडीजी अशोक कुमार ने बताया कि नए साल पर कोरंगा को पदोन्नति का तोहफा दिया जायेगा।