हल्द्वानी: पेशाब को रोक ना पाना भी लोगों को काफी परेशानी देता है। यह वह स्थिति है जब किसी का अपनी पेशाब पर नियंत्रण नहीं रहता है जिसके कारण कई बार शर्मिंदगी का भी सामना करना पड़ता है। यह परेशानी आम और अधिकतर महिलाओं में देखी जाती है। मध्यम आयु वर्ग की लगभग 30-60% महिलाओं को प्रभावित करती है। इस परेशानी के कारण शरीर में तनाव भी पैदा हो जाता है। हल्द्वानी साहस होम्योपैथिक क्लीनिक के डॉक्टर एनसी पांडे ने इस बीमारी को दूर करने के लिए उपचार बताया । उन्होंने बताया कि  मूत्र असंयम या पेशाब को रोक ना पाने  (Urinary incontinence) के लिए बढ़ती उम्र , ओवरएक्टिव ब्‍लैडर, तंत्रिका की क्षति, मूत्र मार्ग में संक्रमण और पेल्विक की मसल्‍स कमजोर होने जैसे कई कारण होते हैं।

ज्यादातर महिलाएं झिझक के कारण इस समस्या को किसी के सामने बताने से कतराती हैं लेकिन इस समस्या से आप अकेली पीड़ित नहीं हैं। आप अपनी जीवन शैली में मामूली से बदलाव करके इस समस्या से निजात पा सकती हैं।

होम्योपैथिक दवा से मिलेगी राहत-

  • Staphysagria 200 की आधे कप पानी में 5 बुँदे सुबह और शाम को लें (इस दवा को केवल 15 दिन ही लेनी है।
  •  Equisetum Q को आधा कप पानी में मिलाकर 10 बूंदें सुबह दोपहर शाम को लें।