उत्तराखंड: फर्जी डिग्री की मदद से बने सरकारी शिक्षक, इन दस की नौकरी गई

देहरादून:सरकारी ओर से सरकारी स्कूलों में झूठ का सहारा लेकर नौकरी पाने वाले मुन्ना भाईयों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इस क्रम में रुद्रप्रयाग जिले में जांच की गई और पकड़े गए 10 शिक्षकों को नौकरी से निकाल दिया गया है। बता दें कि जिले में एसआईटी की जांच में 19 ऐसे शिक्षक मिले थे जिनकी डिग्री फर्जी पाई गई थी। विभाग किसी को भीे छोड़ने के पक्ष में नहीं हैं और पकड़े के लोगों गुरुवार को निकाल दिया गया हैं वहीं अन्य 9 के खिलाफ जांच की जा रही है। एसआईटी प्रभारी मणिकांत मिश्रा के नेतृत्व में फर्जीवाडे़ को पकड़ा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंग न्यूज: केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड:मैच के दौरान क्रिकेट Players के बीच मारपीट, बैट से एक दूसरे पर किए वार

एसआईसी द्वारा फर्जी शिक्षकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए शिक्षा विभाग से सिफारिश के बाद निदेशालय द्वारा दस शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है। अभी नौ फर्जी डिग्री धारक शिक्षकों के विरुद्ध जांच चल रही है। खबर के अनुसार इन सभी शिक्षकों द्वारा 1994 से 2005 के बीच बीएड की डिग्री चौधरी चरण सिंह विवि से लेने की बात कही गई थी लेकिन जांच में कुछ भी सामने नहीं आया।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:ITBP की बस अनियंत्रित होकर घर की छत पर पहुंची, इसे चमत्कार कहिये

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अजब-गजब, शादी के लिए प्रेमिका ने प्रेमी के घर पर दिया धरना

विवि में कोई रिकॉर्ड नहीं है, इसके आधार पर इनकी डिग्री को फर्जी माना गया है। कुछ शिक्षकों द्वारा अपना दावा पेश करने के दौरान एसआईटी व विभागीय जांच को प्रभावित करने की कोशिश की गई। विभाग की ये जांच एक सकारात्मक पहलू है। इस तरह के फर्जीवाड़े की वजह से कई ऐसे युवा है जिन्हें सालों से इंतजार के बाद भी सरकारी नौकरी नहीं मिली। शिक्षा विभाग ही नहीं अन्य विभागों में भी इस तरह के क्लीन अभियान की जरूरत है। रुद्रप्रयाग डीईओ बेसिक डा. विद्याशंकर चतुर्वेदी ने फर्जी शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि एसआईटी की जांच में जिले में प्राथमिक व जूनियर स्तर पर 19 शिक्षकों की डिग्री फर्जी मिली है। जांच कार्रवाई पूरी होने पर निदेशालय के आदेश पर दस शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया है। अन्य 9 के खिलाफ जांच जारी है।

यह भी पढ़ें: रानीबाग में स्टील ग्रेडर टू-लेन पुल का काम शुरू, भीमताल जाते वक्त अब जाम नहीं

यह भी पढ़ें: चल गया डीएम सविन बंसल का प्लान, ऐपण को पहचान भी और लोगों को स्वरोजगार भी

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now