नोएडा: सेक्टर-12 से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक 10 साल की बच्ची ने बहन के साथ हुए विवाद के चलते आत्महत्या कर दी। इस घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। लोगों के समझ में नहीं आ रहा है कि जो बच्ची केवल 10 साल की है, जिसे आत्महत्या का मतलब नहीं पता है उसने ऐसा कदम उठा दिया। इस हादसे के बाद मृतक के घर में कोहराम मच गया है।बच्ची ने खिड़की से चुन्नी का फंदा लगाकर आत्महत्या की। परिजन उसे मेट्रो हास्पिटल ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्ट्म के लिए भेज कर मामले की जांच शुरू कर कर दी है पुलिस मामले की छानबीन कर आत्महत्या के कारणो का पता लगाने में जुटी है।

डेंटल इंप्‍लांट पर हल्द्वानी प्रकाश डेंटल की टिप्स

नोएडा के सेक्टर-12 के मकान ए-21 में दस साल की मानसी ने ग्राउन्ड फ्लोर पर बने एक कमरे में जाकर दरवाजा भीतर से बंद कर लिया और खिड़की से चुन्नी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों का कहना है कि जब कुछ देर तक मानसी नहीं दिखी तब उसकी तलाश की गई। वह कमरे में बंद थी। Related imageफिर दरवाजे को बाहर से कई बार धक्का देने से कुंडी खुल गई। भीतर मानसी अचेत पड़ी थी और उसके गले में चुन्नी का फंदा लगा था। उसे तुरंत सेक्टर-11 के मेट्रो अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है की नोएडा के सैक्टर-12 के मकान ए-21 में प्रवीन कुमार रावत अपने परिवार के साथ रहते हैं।

हल्द्वानी के डॉक्टर पांडे होम्योपैथिक इलाज करेंगे साइनस को दूर

मकान के ग्राउन्ड फ्लोर पर उनका परिवार जबकि पहली मंजिल पर उनकी मां और बड़े भाई का परिवार रहता है। प्रवीन रावत की दो बेटियां 10 साल की मानसी और 12 साल की उसकी बड़ी बहन सोनल हैं। मानसी एसीसी कान्वेंट स्कूल में कक्षा 5 और सोनल 6 में पढ़ती है। मंगलवार की सुबह दोनों बहन खेल रही थीं। कुछ देर बाद सोनल पहली मंजिल पर अपनी दादी के पास चली गई। लेकिन, मानसी ने ग्राउन्ड फ्लोर पर बने एक कमरे में जाकर दरवाजा भीतर से बंद कर लिया और खिड़की से चुन्नी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस भी इस घटना के पीछे के कारणों के बारे में कुछ नहीं बता पा रही है। हालांकि पड़ोसियों का कहना है कि दोनों बहनों में टीवी के रिमोट को लेकर लड़ाई हुई थी। उसी के बाद मानसी ने आत्महत्या की है।