रोडवेज बसों को रोजाना मिल रहे हैं 35 हजार यात्री, अब बसों की संख्या बढ़ाएगा विभाग !

देहरादून: कोरोना काल के चलते आर्थिक नुकसान का सामना कर रहे रोडवेज को अनलॉक-5 ने राहत दी है। उत्तराखंड में दिल्ली, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के लिए बसों का संचालन शुरू हो गया है। विभिन्न जिलों के लिए बसों की संख्या को बढ़ाया जा रहा है और यह विभाग को राहत दे रहा है। बुधवार से उत्तराखंड में दूसरे राज्यों के लिए बसों संचालन शुरू हुआ। कुछ आंकडे सामने आए हैं जो बता रहे हैं कि आने वाले दिनों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। अगर ऐसा होता है कि इन रूटों में बसों की संख्या को बढ़ाया जाएगा और ऐसा रोडवेज के अधिकारी पहले ही बता चुके हैं। पढ़ना जारी रखें…

यह भी पढ़ें:नैनीताल की सुरक्षा हेतु डीएम सविन बंसल का प्लान, होटलों व पर्यटकों को फॉलो करना होगा

यह भी पढ़ें:गुंडे पुलिस वालों से नहीं डरती,नैनीताल में पार्किंग को लेकर पुलिस से उलझी महिला

पहले चरण में अंतरराज्यीय सेवाओं में चल रही 100 बसों में यात्रियों का आंकड़ा करीब 35 हजार तक पहुंच गया है। राज्य के अंदर चल रही बसों को यात्री मिलने लगे हैं। इसका कारण है किराया का कम होना,जून के आखिरी महीने में उत्तराखंड सरकार ने इंटर डिस्ट्रिक्ट बस सेवा को शुरू किया था। हालांकि नियम था कि बसों में केवल 50 प्रतिशत यात्री बैठेंगे और किराया में भी 75 प्रतिशत की बढोतरी की गई थी। यात्रियों की बढ़ती भीड़ रोडवेज को वित्तीय घाटे को कम करने में मदद करेगी।कोरोना वायरस को देखते हुए बसों में यात्रियों का नाम, मोबाइल नंबर व गंतव्य स्थल नोट किया जा रहा है। पढ़ना जारी रखें…

बीते बुधवार से दिल्ली मार्ग के साथ ही गढ़वाल और कुमाऊं के बीच भी बस संचालन शुरू हो गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश रोडवेज ने भी यहां से दिल्ली, लखनऊ, आगरा, बरेली, कानपुर, सहारनपुर के लिए बस सेवाएं शुरू कर दी हैं। दिल्ली के साथ हल्द्वानी, टनकपुर, भवाली, रुद्रपुर, नैनीताल, रामनगर, काशीपुर, देहरादून और काठगोदाम के लिए चल रही हैं। बस स्टेशन में भीड़ लग रही है और इसके लिए रोडवेज मुख्यालय सोमवार से बस सेवाएं बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। पढ़ना जारी रखें…

यह भी पढ़ें:बॉर्डर पर कोरोना टेस्ट नहीं, अब बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं उत्तराखंड

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड के बिंता गांव की मनीषा जोशी बनी IIT दिल्ली में असिस्टेंट प्रोफेसर

जानकारी के मुताबिक शनिवार को दिल्ली मार्ग पर उत्तराखंड की 22 और उत्तर प्रदेश की 28 बसें रवाना हुई। हर बस में 35 से 40 यात्री सफर कर रहे हैं। संचालन के पहले दिन दिल्ली मार्ग पर हर बस में औसत 25 यात्री जबकि दूसरे दिन हर बस में औसतन 30 यात्री सवार हुए, जबकि शनिवार को यह संख्या 40 के आसपास पहुंच गई। गढ़वाल-कुमाऊं के बीच भी बसों और यात्रियों की संख्या में वृद्धि हुई को देखते हुए दून से हल्द्वानी के लिए पांच बसें चल रही हैं और इसे बढ़ाने पर भी विचार किया जा रहा है। रोडवेज के महाप्रबंधक दीपक जैन के अनुसार प्रदेश के सभी डिपो से कुल 100 बसें दिल्ली मार्ग पर चल रही हैं। करीब 350 बसें प्रदेश के भीतर संचालित हुई। जहां यात्रियों की डिमांड होगी, वहां के लिए बसें संचालित की जाएंगी और उन्हें बढ़ाया भी जा सकता है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now