करीब चार दशकों से अभिभावकों के भरोसे पर खरा उतर रहा है ABM स्कूल हल्द्वानी

हल्द्वानी:  बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए ऐसे स्कूल की जरूरत होती है जहाँ किताबी ज्ञान के साथ ही व्यक्तित्व विकास और शारीरिक विकास पर भी ध्यान दिया जाता हो। कुमाऊं के द्वार पर स्थित एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल हल्द्वानी में माता-पिता की इसी ख्वाहिश को 1980 से पूरा करता आ रहा है। गांधी आश्रम फतेहपुर हल्द्वानी में इस स्कूल की नींव 38 वर्षों पहले पड़ी थी। एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल अभिभावकों के भरोसे पर खरा उतर रहा है । यहां बच्चों को उच्चतम गुणवत्ता की शिक्षा दी जाती है ।
एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल के संचालक दिवस शर्मा के अनुसार पढ़ाने का तरीका सबसे अलग होना चाहिए। हमारा स्कूल पिछले तीन से ज्यादा दशकों से यही कर रहा है। उन्होंने कहा कि एबीएस के सफल होने के पीछे ये ही वजह है और उसके छात्रों का देश भर की परीक्षाओं व प्रतियोगिता में प्रदर्शन इस बात का प्रमाण है। उन्होंने बताया कि शिक्षा के अलावा एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल खेलों में बच्चों को खासा प्रोत्साहन देता आय़ा है। एबीएम स्कूल के बैनर तले ही एसआरएस क्रिकेट एकेडमी का संचालन किया जाता है।
शहर में एबीएम पहला स्कूल है जहां ये सुविधा दी जाती है। राज्य में क्रिकेट को लेकर खासा उत्साह है और हमारा प्रयास है कि हम उस उत्साह को एक उज्जवल भविष्य में तब्दील करें।
 एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य  रोशन लाल कहते है कि शहर का पुराना स्कूल होने के कारण अभिभावकों की हमासे खासा उम्मीदें होती है और हम उसी भरोसों को जीतने का प्रयास कर रहे है। 39 साल से हमारी कामयाबी इस बात का सबूत है कि हम अभिभावकों के भरोसे पर खरे उतरे हैं।  आज के वक्त में जब स्कूलों में बच्चों के साथ हिंसा जैसी वारदातों ने अभिभावकों को भयभीत कर रखा है ,ऐसे में एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल बच्चों को घर जैसा माहोल देता है । एबीएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल उच्च गुणवत्ता की शिक्षा के साथ-साथ खेलकूद को भी बढ़ावा देता है ।