दिल्ली में हिंसा के बाद उत्तराखंड में अलर्ट,बॉर्डर पर पुलिस तैनात,DGP ने जारी दिए निर्देश

हल्द्वानी:कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुए बवाल की निंदा पूरा देश कर रहा है। इस घटना को अमेरिका संसद भवन कैपिटल हिल्स में हुई हिंसा के साथ जोड़ा जा रहा है। वहीं पूरा देश इसके बाद से चौकन्ना हो गया है। दिल्ली व उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में इंटरनेट सेवा को भी बंद किया गया है। वहीं उत्तराखंड में भी पुलिस अलर्ट पर है और सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है।

इस बारे में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा है कि सभी देहरादून, हरिद्वार और नैनीताल जिले अपने बॉर्डर पर पैनी नजर बनाए रखें। किसानों ने देहरादून भी आने की योजना बनाई थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दिल्ली में हुई घटना को लेकर डीजीपी गंभीर हैं और उन्होंने एजेंसियों को भी अलर्ट रहने को कहा है। दिल्ली में बवाल के बाद रुद्रपुर की रामपुर सीमा पर पुलिस तैनात हो गई है। इस घटना के बाद देर रात एसपी क्राइम ने उत्तराखंड और यूपी पुलिस की बैठक ली थी।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 26 जनवरी को दिल्ली में किसान रैली के दौरान हुए उपद्रव की निंद की। उन्होंने कहा कि यह दृश्य दुर्भाग्यपूर्ण हैं। ऐसे करने वाले किसान नहीं हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के नाम पर देश में नकारत्मक माहौल फैलाने का प्रयास किया जा रहा है। यह घटना ने पूरे देश को दुख दिया है। उन्होंने कहा कि हिंसा में किसान शामिल नहीं था। उन्होंने कहा कि किसान भी इस बात को जानते हैं और सरकारी संपत्ति के नुकसान को लेकर तर्क नहीं दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में इस तरह का माहौल ना हो उसके लिए राज्य सरकार कटिबद्ध है। वह किसानों की रिस्पेक्ट करते हैं।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now