पलायन को हराने के लिए उत्तराखंड के रमेश बिष्ट ने चुनी आत्मनिर्भर की राह,अब युवाओं को दे रहे हैं रोजगार

हल्द्वानी: प्रदेश में पलायन एक ऐसी चीज है जिसने गांवों के गांवों साफ़ करने की तैयारी की थी। पलायन करने वाले लोगों की संख्या के आंकड़े डराने वाले हैं। हालांकि कोरोना महामारी ने आमजन के साथ साथ इस पलायन की भी कमर एक हद तक तोड़ी है। कईयों को ऐसा लगता है कि उत्तराखंड में रह कर नौकरी कर पाना नामुमकिन है। मगर यह मानना सही नहीं है। कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने शहर में या यहां रह कर भी बड़े बड़े कारनामे किए हैं। उदाहरण के तौर पर हल्द्वानी के बिष्ट उद्योग का नाम लेना कोई अनुचित बात नहीं होगी।

हल्द्वानी कमलुआगांजा स्थित बिष्ट कैंडल एंड लाइट ट्रेडिंग कंपनी, जो कि हल्द्वानी और आस पास में बिष्ट उद्योग के नाम से प्रसिद्ध है, ने खुद आत्मनिर्भर बनने के साथ साथ रोजगार के मौके भी पैदा किए हैं। बहरहाल लोगों का भरोसा बिष्ट उद्योग और प्रबंधक रमेश सिंह बिष्ट पर इसलिए भी ज़्यादा है क्योंकि उन्होंने भी पलायन ना कर अपने उत्तराखंड में ही काम स्थापित किया। जिस बात से लोग डरते हैं कि यहां काम कैसे होगा, आमदनी कैसे होगी, वहां उन्होंने ना सिर्फ खुद आय का जरिया ढूंढा बल्कि युवाओं को भी आगे बढ़ाया। बेहद कम से कम दामों में बिष्ट उद्योग ने लोगों को रोजगार दिया है।

यह भी पढ़ें: चार दिन में हल्द्वानी में दूसरी खुदकुशी, तनाव के कारण व्यक्ति फांसी पर झूला

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने 3 पुलिसकर्मियों के निलंबन के लिए SSP को भेजा पत्र

बिष्ट उद्योग की एक नई स्कीम के मुताबिक आपको महज 25,900 रुपए खर्च करने हैं और आप उससे अपनी आमदनी के माध्यम स्थापित कर सकते हैं। दरअसल बिष्ट उद्योग तरह तरह के उद्योगों को पैदा करने वाली मशीनें उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराता है। आप भी बिष्ट उद्योग से मशीने जैसे स्लीपर, पेपर दोना प्लेट, चाऊमीन, रुई बत्ती बनाने की मशीने खरीद सकते हैं और अपना एक नया काम शुरू कर खुद को आत्मनिर्भर बना सकते हैं।

साबुन, सर्फ, बांस स्टिक मेकिंग हेयरबैंड रबड़ मशीन और पेपर दोना मशीन, पेपर कप मशीन, अगरबत्ती मेकिंग मशीन, धूपबत्ती मशीन, कपूर मेकिंग मशीन भी बिष्ट उद्योग में उपलब्ध हैं। इतना ही नहीं कंपनी मशीनों के साथ साथ ग्राहकों को उनका कच्चा माल भी देती है। बिष्ट उद्योग आपको ना सिर्फ मशीनें और कच्चा माल उपलब्ध कराता है बल्कि मशीनों और कच्चे माल का इस्तेमाल कैसे करना है, यह प्रशिक्षण भी आपको देता है।

अगर आप भी अपनी जेब को ज़्यादा ढीला किए बिना स्टार्टअप की शुरुआत करना चाहते हैं, तो इससे बढ़िया मौका आपको नहीं मिल सकता। बिष्ट उद्योग के प्रबंधक रमेश बिष्ट के अनुसार मात्र 25,900 रु में आप मशीनों को कंपनी से खरीद कर ला सकते हैं। इससे संबंधित किसी भी तरह की जानकारी के लिये आप www.bishtudhyog.com पर जा सकते हैं या फ़िर 9639565309,9720412107,8979536621,7617643577 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: चौरासी कुटिया आश्रम के लिए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

यह भी पढ़ें: कुमाऊं के डिग्री कॉलेज सिखाएंगे युवाओं को खेतीबाड़ी के गुण, उत्तराखंड सरकार के पास पहुंचा प्लान

यह भी पढ़ें: मौसम विभाग की भविष्यवाणी सही साबित हुई, देर रात हुआ उत्तराखंड में हिमपात

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की बड़ी खबर, CM त्रिवेंद्र सिंह रावत को दिल्ली AIIMS रेफर किया गया

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now