साल के अंतिम दिन हुआ कादर खान का स्वर्गवास…

नई दिल्लीः हिंदी सिनेमा के मशहूर अभिनेता कादर ख़ान का कनाडा के एक अस्पताल में निधन हो गया है । उनके बेटे सरफ़राज़ ख़ान ने उनकी मौत की पुष्टि की है । सरफ़राज़ ख़ान ने बताया – “उनके पिता कादर ख़ान अब हमारे बीच नहीं रहे । “81 वर्षीय कादर ख़ान एक दिग्गज अभिनेता होने के साथ-साथ डायलॉग लेखक भी थे । उनकी सेहत पिछले कुछ समय से चर्चा में थी और सोशल मीडिया पर उनकी मौत की अफ़वाहें कई बार उड़ीं ।

अभिनेता अमिताभ बच्चन और अभिनेत्री रविना टंडन ने पहले ट्वीट करके उनके बेहतर स्वास्थ्य की प्रार्थना की थी ।अमिताभ बच्चन और खान ने कई फिल्मों में एक साथ काम किया था । दो और दो पांच, मुकद्दर का सिकंदर, मिस्टर नटवरलाल, सुहाग, कुली और शहंशाह जैसी फिल्मों में अमिताभ और कादर खान ने साथ-साथ काम किया । कादर खान एक बेहतरीन अभिनेता के साथ-साथ बेहतरीन डायलॉग राइटर भी थे । उन्होंने सुपरहिट फिल्म कुली नंबर-1 समेत कई फिल्मों के लिए डायलॉग लिखे थे ।
अमिताभ बच्चन ने अपनी कई सुपरहिट फिल्मों शराबी (1984), कुली (1983), लावारिस (1981), मुकद्दर का सिकंदर (1978), अमर अकबर, एंथनी (1977), सत्ते पे सत्ता (1982) और अग्निपथ (1990) में कादर खान के लिखे हुए डायलॉग ही बोले थे ।
80 और 90 के दशक में कादर खान गोविंदा और अनिल कपूर के साथ कई फ़िल्मों में दिखने वाले अभिनेता रहे । साल 1973 में राजेश खन्ना की फ़िल्म दाग़ से बॉलीवुड में कदम रखने वाले कादर ख़ान ने 300 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम किया ।