भारत चीन विवाद पर अजीत डोभाल की शीर्ष अधिकारियों के साथ सीमा स्थिति पर समीक्षा

नई दिल्ली: भारत चीन विवाद में दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प और तनातनी जारी है भारत और चीन की सीमा पर फिर से हालात नाजुक हो गए है। 29 और 30 अगस्त की रात को चीन ने पंगोंग झील के पास घुसपैठ की कोशिश की थी लेकिन भारतीय सैनिकों ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया। इसी विवाद को सुलझाने के लिए चीन की ओर से बातचीत का प्रस्ताव रखा गया और ये पहली बार दोनों देशों के बीच बातचीत नहीं हुई है। कई बार दोनों देशों के बीच बातचीत और समझौता भी हुआ है। इस बातचीत का धोखेबाज चीन पर कोई असर नहीं पड़ा है और वह हमेशा कि तरह ऐसी कोशिश करता आ रहा है।

सूत्रों के अनुसार एनएसए अजीत डोभाल ने शीर्ष अधिकारियों के साथ भारत-चीन सीमा पर स्थिति की समीक्षा की। रक्षा मंत्री ने आज एक और उच्च स्तरीय बैठक बुलाने की संभावना है। इस तनाव के बीच अमेरिका के माइक पोंपियो ने कहा है कि चीन पूरी दुनिया की शराफत और आजादी का नायजाज फायदा उठा रहा है।

ए एन आई का ट्वीट

ग्लोबल टाइम्स के अनुसार चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने फ्रांस के एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम बातचीत को लेकर तैयार है और सीमा पर शांति स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध है। साथ ही यह भी कहा कि यह समस्या दोनों देशों के बीच सीमा का सीमांकन ना होने की वजह से उत्पन्न हो रही है। चीन सभी मुद्दों पर भारत के साथ बातचीत को तैयार है।

यह भी पढ़े: जेईई और नीट परीक्षाओं के पक्ष में योगी, दिया 5 लाख बीएड परीक्षा का उदाहरण

यह भी पढ़े: चेन्नई सुपर किंग्स को लगा बड़ा झटका, सुरेश रैना भारत लौटेंगे

आपको बता दें दो दिन पूर्व भारत और चीन सैनिकों के बीच पेगोंग झील के पास झड़प हुई थी जिससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। चीन के सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की थी लेकिन भारतीय सैनिकों ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया और कई इलाकों में अपनी पकड़ मजबूत कर ली है।

इस मामले को सुलझाने के लिए ब्रिगेडियर कमांडर लेवल की बातचीत चुशूल क्षेत्र में हुई और कोशिश के बाद भारतीय सेना हाई अलर्ट पर है। झड़प के बाद किसी के हताहत होने की खबर नहीं है अब भारतीय सेना ने सतर्कता के साथ आगे की कार्यवाही के लिए तैयार है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now