जय माता दी…पहले से आसान होंगे मां पूर्णागिरी के दर्शन,एसडीएम ने खोजा शानदार Idea

टनकपुर: देशभर में विख्यात और प्रसिद्ध मां पूर्णागिरी स्थल पर हर वर्ष आयोजित होने वाला मेला 30 मार्च से शुरू होकर 30 अप्रैल तक संचालित होगा। इस बार बुज़ुर्गों, असहाय व दिव्यांग जनों को माता के दर्शन करने के लिए मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इस बार मेले में डोली और डोकों की मदद ली जाएगी।

टनकपुर एसडीएम एवं मेला मजिस्ट्रेट हिमांशु कफल्टिया की मानें तो उनकी तरफ से दिव्यांग, बुजुर्ग और अन्य असहाय लोगों के लिए डोली के सहारे भैरव मंदिर से मुख्य मंदिर तक ले जाने का सुझाव दिया गया था। जिसको आगे ले जाते हुए सल्ली गांव निवासी और क्षेत्र के बीडीसी सदस्य कमल रावत ने यह बीड़ा उठाया है।

यह भी पढ़ें: चंपावत का बेटा मायानगरी में छाया, बॉलीवुड दिग्गज जितेंद्र बोले कैसे कर लेते हो ये सब…

यह भी पढ़ें: देहरादून शताब्दी एक्सप्रेस हादसा,कोच अशोक ने ऐसे बचाई सभी लोगों की जान

जानकारी के अनुसार कमल रावत तैयारियों में जुट गए हैं। अबतक उन्होंने 5 डोले व 10 डोके की व्यवस्था भी कर ली है। कमल रावत के मुताबिक डोलों और डोकों की संख्या को मेले में आने वाली भीड़ के हिसाब से बढ़ाया जाएगा। साथ ही बताया कि इस कार्य में इलाके के उत्साही युवा साथियों से मदद ली जाएगी। मजदूरों की भी व्यवस्था की जाएगी।

आपको बता दें कि पहले टनकपुर से भैरव मंदिर तक 21 किमी तक मोटर मार्ग है। फिर यहां से मुख्य मंदिर तक करीब चार किमी की कठिन पैदल चढ़ाई है। इस रास्ते पर दिव्यांग, असहाय व बच्चों को आने-जाने में काफी दिक्कतें होती हैं। लाजमी है कि इस व्यवस्था से दिव्यांग और बुजुर्गों की परेशानी काफी हद तक कम हो जाएगी।

एसडीएम टनकपुर हिमांशु कफल्टिया ने जानकारी दी। उन्होंने चम्पावत के सल्ली क्षेत्र की बीडीसी सदस्य कमल रावत के इस कदम को सराहनीय बताया है। साथ ही यह भी कहा कि प्रशासन इस कार्य में उनका पूरा सहयोग करेगा। बहरहाल आपको बता दें कि पिछले साल कोरोना के कारण मेला स्थगित हो गया था। इस बार पूर्णागिरि मेला शुरू होने से पहले ही भारी संख्या में भक्तजन मां पूर्णागिरि धाम के दर्शन को पहुंच रहे है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:COVID वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के बाद भी संक्रमित निकला अस्पताल का गार्ड

यह भी पढ़ें: अब मसूरी के इस क्षेत्र में लगा पूर्ण लॉकडाउन,कोरोना वायरस बढ़ा रहा है सिर दर्द

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:700 लोगों को राहत देगा सीएम रावत का फैसला, लॉकडाउन में हुई थी चूक

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के अक्षज को गेंदबाजी सिखाएंगे जॉन बुकानन,ऑस्ट्रेलिया को जीता चुके हैं दो विश्वकप

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now