पीछे से बोले धोनी और अगली बॉल पर गिरा विकेट, रचा इतिहास

229

नई दिल्ली: भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को आप खेल से कभी बाहर नहीं कर सकते। उनका मैदान पर होना ही विरोधियों को टेंशन देता है। भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जा रहे तीसरे वनडे में धोनी का बल्ला कुछ नहीं कर सका तो उनके गिलब्स विरोधियों को भारी पड़े। धोनी ने तीसरे मैच में साउथ अफ्रीका के कप्तान एडेन मारक्रम को विकेट के पीछे स्टंप कर इतिहास रच दिया।

मारक्रम धोनी के वनडे में विकेट के पीछे 400वें शिकार थे। धोनी को पूरी दुनिया स्टम्पिंग का बादशाह कहती है। वो विकेट के पीछे ऐसा करते है जो कोई सोच भी नहीं सकता। भारत की ओर से बतौर विकेटकीपर ये सबसे ज्यादा शिकार है। धोनी ने 315 वनडे मैचों में 106 स्टंपिंग और 294 कैच किए हैं। स्टम्पिंग के मामले में धोनी विश्व क्रिकेट में सबसे आगें है। वनडे क्रिकेट में बतौर विकेटकीपर सबसे ज्यादा शिकार श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगरकारा के हैं। उन्होंने 360 मैचौं में 482 शिकार किए हैं।  दूसरे नंबर पर एडम गिलक्रिस्ट  है, गिलक्रिस्ट ने 287 मैच में विकेट के पीछे कुल 472 शिकार किए, जिसमें 417 कैच और 55 स्टंप हैं।तीसरे नंबर पर साउथ अफ्रीका के मार्क बाउचर है. जिन्होंने 1998 से 2011 के बीच खेले कुल 295 मैचों में कुल 424 शिकार किए, जिसे 402 कैच लपके और 22 स्टंप किए. चौथे पर भारत के धोनी और पांचवे पायदान पर पाकिस्तान के मोईन खान हैं। जिन्होंने अपने करीब 15 साल के करियर में कुल 287 आउट किए, जिसमें 214 कैच और 73 स्टंप आउट हैं।

भारत ने साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 304 रनों का लक्ष्य दिया है। कप्तान विराट कोहली ने 16वें ओवर में गेंद कुलदीप यादव को दी। पहली गेंद होने के बाद धोनी ने कुलदीप से गेंद पीछे रखने को कहा। कुलदीप ने धोनी की बात मानी और एडेन मारक्रम को बीट कर दिया। एडेन मारक्रम अपनी क्रीज़ से बाहर आए और रही कसर महेंद्र सिंह धोनी ने कर डाली।

इससे पहले 6 मैचों की वनडे सीरीज़ में 0-2 से पीछे चल रही साउथ अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। भारत को पहले ओवर में ही झटका लगा और रोहित शर्मा बिना खाता खोले आउट हो गए। उसके बाद बल्लेबाजी करने आए भारतीय कप्तान विराट कोहली भी आउट हो गए थे लेकिन रिव्यू ने उन्हें बचा लिया। उसके बाद शिखर धवन और विराट ने मेजबान गेंदबाजों की जमकर खबर ली और दूसरे विकेट के लिए 140 रनों की साझेदारी की। शिखर ने शानदार 76 रनों की पारी खेली। वही कप्तान विराट कोहली अपने वनडे करियर का 34वां शतक जमाया। कोहली के बल्ले से इस सीरीज़ मे दो शतक और एक फिफ्टी निकल चुकी हैं।