DPS लामाचौड़ के छात्रों ने दिवाली के मौके पर दिया अनूठा संदेश, मौजूद लोग बोले शाबाश

246

डीपीएस लामाचौड़ में प्रदूषण मुक्त दिवाली मनाने का संदेश दिया गया। इस मौके पर स्कूल परिसर में छात्रों ने कार्यक्रम का आयोजन किया। छात्रों ने अपनी प्रस्तुति से कार्यक्रम में मौजूद लोगों को पर्यावरण संरक्षण एवं प्राकृतिक संतुलन के साथ मानाने संदेश दिया। विद्यालय के सभी बच्चों ने दीपावली के दौरान पटाके कम छोड़ने , पर्यावरण की रक्षा करने , स्वच्छता बनाने , प्रदुषण कम करने , स्वदेशी वस्तुओ का प्रयोग करने , निर्धन एवं असहाय जनों की सहायता करने , पेड़ पौधे लगाने , जैसे संकल्पों को साथ लेकर ग्रीन दिवाली कैंपेन “ दीपांजलि “ का शानदार शुभारम्भ किया |

इस दिवाली पर बच्चों के द्वारा अपने आसपास , गली मोहल्ले तथा शहर के अनेक भागो में घर घर जाकर लगभग 20,000 से अधिक परिवारों के साथ हस्ताक्षर अभियान चलाया , जिस में अपनी स्थापना के वर्ष 2015 से वर्तमान तक सदैव एक आदर्श दीपावली त्यौहार मनाने का संकल्प लिया | मेधावी बच्चों की इस अनूठी पहल का स्वागत किया जाना चाहिए की आज तक ग्रीन दीपावली अभियान से जुड़े परिवार ( लगभग 2000 ) की संख्या के साथ ) समूचे प्रान्त को पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदुषण मुक्त दीपावली का एक अनूठा संदेश दे रहे हैं| ग्रीन दीपावली कैंपेन के अंतर्गत मिट्टी के दिए बनाने का प्रशिक्षण आमंत्रित कुम्हार के द्वारा बच्चों को दिया गया | स्वनिर्मित दीयो तथा रंगोली पेंटिंग्स से बिलकुल स्वदेशी अंदाज़ में दीपावली मनाई जाएगी | इस जागरूकता कार्यक्रम में बच्चों को सेव एनर्जी, सेव इलेक्ट्रिसिटी , हेल्थ कम्युनिटी सर्विस , एयर वाटर साउंड प्रदुषण जैसे कई अनमोल संदेश दिए गए है | डीपीएस के इस अनूठे प्रयत्न में गीत , संगीत , नृत्य , नाटिकाओ द्वारा सभी बच्चे अपने अपने कार्यक्रमों के माध्यम से कुछ नया तथा विशेष करने का संकल्प ले चुके हैं | यही भावी पीढ़ी हमारी संवेदनाएं जागृत करेगी और एक नयी ऊर्जा , उमंग , उल्लास के साथ हमारे त्योहारों को प्राकृतिक रूप से मानाने की सही दिशा निर्धारित करेगी |

दीपांजलि कार्यक्रम के इस आयोजन में लगभग 1000 से अधिक अभिभावक , वरिष्ठ नागरिक , विद्वान कलमकार , स्टाफ सहयोगी , कार्यकुशल शिक्षक मंडल एवं लगभग सभी १२५० बच्चों ने अपनी अपनी शमता , अभिरुचि एवं दक्षता से कार्यक्रम में प्रतिभाग किया | शत प्रतिशत बच्चों को मंच उपलप्ध कराकर उसकी व्यक्तिगत प्रतिभा का विकास किया जा सकता है, डीपीएस परिवार की यह मान्यता है | इस वर्ष बच्चों के बहुमुखी व्यक्तित्व का एक आयाम पांडाल में सुसज्जित साइंस आर्ट गैलरी, विज्ञान, गणित, भाषा के प्रोजेक्ट तथा अत्याधुनिक शिक्षण तकनीक से रूबरू कराते होनहार विद्यार्थियों के विचार भी थे | डीपीएस विगत 3 वर्षो से ग्रीन दीपावली के आयोजन के दौरान वरिष्टतम पुरुष ठाठ महिला नागरिको को सम्मानित करता है जिससे हमारी सनातन परम्परा एवं बुजुर्गों का आशीर्वाद सदैव अक्षुण रहे |

यह दीपावली पूर्णतः हरित दिवाली हो , बढे बूढों के स्वास्थ्य को नुक्सान पहुचाने वाले फायर्वर्क्स का पुर्णतः परित्याग तथा अपनी ख़ुशी में गरीब , निर्धन एवं असहाय जानो को भी शामिल करने का महान मानवीय संदेश भी दे गया है यह दीपांजलि कार्यक्रम | डीपीएस लामाचौड शिक्षा के शेत्र में एक अग्रणी संस्था है | यह परिवार अपने प्रबुद्ध अभिभावकों , कर्मठ शिक्षको एवं होनहार विद्यार्थियों की कर्त्वनिष्ठा के साथ साथ विद्यालय प्रबंधन के भागीरथ प्रयत्नों से दिन प्रतिदिन विद्या के क्षेत्र में नए नए आयाम गढ़ रहा है |

इसी शैक्षणिक सत्र 2018-19 में डीपीएस लामाचौड़ को इनोवेटिव लर्निंग एंड टीचिंग श्रेढ़ी में नार्थ स्कूल मेरिट अवार्ड के साथ टॉप सीबीएसई स्कूल ऑफ उत्तराखंड का सम्मान प्राप्त हुआ | विगत वर्ष नवा चार एवं शेक्षणिक प्रयत्नों हेतु कबिना मंत्री श्री प्रकाश पन्त द्वारा कुमाऊ रत्न सम्मान प्राप्त हो चुका है | SSPF फूटबाल टूर्नामेंट में हल्द्वानी क्षेत्र में प्रथम एवं जनपद स्तर पर उपविजेता होने का गौरव प्राप्त हुआ | विद्यालय में अध्यन रत नवी कक्षा की छात्रा चेतना सूर्या को एशियाई गेम्स में टायक्वोंडो टीम में प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला , जबकि राष्ट्रीय स्तर की टायक्वोंडो प्रतियोगिता में यह बालिका द्वितीय स्थान प्र रही | अगर शैक्षणिक माहौल की बात करे तो सुरम्य , शांत , प्राकृतिक वातावरण में उत्तम शेक्षणिक परिदृश्य नज़र आता है | साफ स्वच्छ , हवादार एवं अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण कक्षाएं , विशाल पुस्तकालय , भौतिक / रसायन / जीव विज्ञान हेतु पृथक पृथक अत्याधुनिक प्रयोग्शालायेंन, छुट्टी एवं अवकाश में अतिरिक्त शिक्षण, ग्रीष्म एवं शीत अवकाशों में निशुल्क प्रशिक्षण , विषय विशेषज्ञों को आमंत्रण , अत्याधुनिक शिक्षण तकनीको का प्रयोग , परीक्षा प्रयोगी प्रसंगों पर विशेष ध्यान , प्रश्न पत्रों का गंभीर अध्ययन , कमज़ोर बच्चों हेतु विशेश्स कक्षाएं तथा सीखने की समस्त विधाओं पर निरंतर कार्य किया जा रहा है |

बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए विद्यालय में लगभग 50 के करीब सी सी टी वी कैमरा एवं बसों में CCTV और GPS की व्यवस्था की गई है । कार्यक्रमों की सुन्दर प्रस्तुति के अंत में निदेशक महोदय ने पुनः सभी उपस्थित लोगों को दीपांजलि उत्सव की शुभकामनायें प्रदान की | उन्होंने अपने संभाषण में कहा की दीपावली प्रकाश का पर्व है किन्तु इसका अर्थ केवल बाहरी प्रकाश ही नहीं है, जो बाहरी अंधकार को दूर करता है ! इसका तात्पर्य ज्ञान के प्रकाश से भी है, जो हमारे अन्दर की अच्छाई, हमारे अन्दर की बुराई पर विजय प्राप्त करती है !

दिवाली जिसका शाब्दिक अर्थ है दीपों (प्रकाश) की पंक्ति ! हमारे जीवन में बहुत से पहलू तथा स्तर होते हैं ! हम उन सभी पर प्रकाश डालें क्योंकि यदि हमारे जीवन का एक भी पहलू अन्धकारमय होगा, तो हमारा जीवन कभी भी पूर्णतः अभिव्यक्त नहीं हो सकेगा ! इसलिए दिवाली में दीपों की पंक्ति प्रज्ज्वलित की जाती है ताकि हमें ध्यान रहे कि हमारे जीवन के प्रत्येक पहलू को ध्यान की तथा ज्ञान के प्रकाश की आवश्यकता है ! हमारे द्वारा प्रज्ज्वलित प्रत्येक दीप सद्गुण का प्रतीक है |