नैनीताल: मतदान सूची में चाहिए बदलाव तो 15 दिसंबर तक भरे आवेदन, चुनावी तैयारियां शुरू

इन आवेदनों पर सुधार कार्यों और निर्णयों के बाद यह सूची 15 जनवरी को अंतिम बार प्रकाशित की जाएगी।

हल्द्वानी: उत्तराखंड में चुनावी तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। सभी राजनैतिक दल ज़ोरो शोरो से अपना अपना प्रचार प्रसार करने में लगे हुए हैं। बता दें कि 2022 में राज्य के विधानसभा चुनाव आयोजित होने हैं। जिसके लिए सभी पार्टियां अपने अपने पैंतरे जनता के सामने लाने में लगी हुई हैं।

चुनाव में सबसे ज़्यादा अहम भूमिका में होते हैं लोग, मतलब मतदाता। मतदान एक ऐसा अधिकार है बहुत ज़िम्मेदारी से भरा होता है। किसी भी प्रदेश या फिर अपने देश की सत्ता चुनना खासा महत्वपूर्ण काम है। मतदान करना भी उतना ही ज़रूरी है जितना की ज़िंदगी का कोई दूसरा अहम काम। चुनावों के आते ही प्रशासन और शासन ने मतदान सूची तैयार करनी शुरू कर दी है। जो कोई भी मतदान सूची में नहीं हैं, उनके लिए विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं। इसके अलावा लोग 15 दिसंबर तक मतदान सूची में अपने ब्यौरे को ले कर सुधार भी करवा सकता हैं। जिसके लिए उन्हें आवेदन करने की आवश्यकता होगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के बॉर्डर्स पर और बसों में शुरू हुई रैंडम कोरोना टेस्टिंग, बढ़ते संक्रमण से स्वास्थ्य विभाग सचेत

यह भी पढ़ें: 104 पर शिकायत करें या पाएं जानकारी,उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए हेल्पलाइन जारी

अगर आप अपना नाम मतदाता सूची में शामिल कराना चाहते हैं तो आप मतदान केंद्र के बीएलओ के पास जा कर संबंधित आवेदन कर सकते हैं। निर्वाचन आयोग ने समस्त मतदाताओं से 15 दिसंबर तक दावे-आपत्तियां देने को कहा है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने 16 नवंबर को प्रारंभिक सूची जारी कर दावे-आपत्तियां मांगी हैं।

जिले के निर्वाचन अधिकारी सविन बंसल ने बताया कि हर जगह के बीएलओ को मतदान सूची मुहैया करवा दी गई है। सभी मतदाताओं तक बीएलओ द्वारा मतदान सूची पहुंचाई जाएगी, ताकि अगर किसी को कुछ भी सुधार करवाना हो तो वे करवा सकें। सूची देख कर मतदाता अपना नाम जोड़ने, हटाने या फिर नाम, पते समेत अन्य विवरण में सुधार के लिए आवेदन कर सकते हैं। इन आवेदनों पर सुधार कार्यों और निर्णयों के बाद यह सूची 15 जनवरी को अंतिम बार प्रकाशित की जाएगी। इसके अलावा नाम जोड़ने, हटाने या संशोधन के लिए विशेष तरह का अभियान भी चलाया जाएगा। सविन बंसल ने बताया कि ज़्यादा जानकारी के लिए मतदाताओं के दावे व आपत्तियों का निराकरण किया जाएगा। ज़्यादा जानकारी के लिए मतदाता एसडीएम, तहसीलदार या जिला निर्वाचन कार्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: घरों से वंचित ग्रामीणों को मिलेगा घर, 2022 तक 80 हज़ार आवास बांटने का प्लान

यह भी पढ़ें: मशहूर कॉमेडियन भारती सिंह और पति हर्ष के घर से मिला ड्रग्स, NCB की हिरासत में होगी पूछताछ

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: स्कूलों में व्यावसायिक विषय होंगे अनिवार्य, 200 से ज़्यादा अतिथि शिक्षकों को मिलेगा रोजगार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के लिए खुशखबरी, विदेशी विश्वविद्यालयों के साथ शोध कार्य करेगा UOU

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now