नैनीताल खाद्य विभाग हुआ अलर्ट, कुट्टू केस के बाद छापेमारी में तेज़ी

रूड़की में कुट्टू के आटे से जुड़ा एक विवाद सामने आने के बाद नैनीताल जनपद में भी खाद्य सुरक्षा विभाग अलर्ट हो गया है। विभाग द्वारा चलाया जा रहा है निरीक्षण अभियान।

नैनीताल: अक्टूबर के आते ही मौसम और माहौल दोनों में कुछ तब्दीलियां आईं हैं। एक तरफ ठंडों की हल्की फुल्की झलक देखने को मिली है तो वहीं दूसरी तरफ त्योहारों का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। कुछ दिन पहले से ही शारदीय नवरात्र के पावन दिनों का शुभारंभ हो गया है। नवरात्र के शुभ अवसर पर कई घरों में उपवास रखे जाते हैं। कई घरों में उपवास को खोलते वक्त यह ध्यान दिया जाता है कि वे फलाहारी व्यंजनों से ही अपना व्रत खोलें। एक अच्छा फलाहार व्यंजन होने के कारण, कुट्टू का आटा नवरात्र के दिनों में काफी चलन में रहता है। इन दिनों इस आटे का भोग कई घरों में किया जाता है। लेकिन इस साल नवरात्र के शुरुआत से ही, कुट्टू का आटा आलोचनाओं के घेरे में आ पहुंचा है।

यह भी पढ़ें: हाईस्कूल में पढ़ने वाली द्वाराहाट की श्रुति भट्ट ने पूरे इंडिया में हासिल किया पहला स्थान

यह भी पढ़ें: केदारबाबा से मिलने पहुंच रहा है तीर्थयात्रियों का सैलाब,हेली सेवा की बुकिंग लगभग पैक

दरअसल अभी हाल ही में रूड़की में कुट्टू के आटे से जुड़ा एक विवाद सामने आया था। हुआ यूं कि रूड़की में कुट्टू का आटा खाने के बाद बहुत बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों की तबीयत खराब हो गई थी। जिसकी वजह से समूचे राज्य में इस आटे को ले कर चिंताजनक माहौल उत्पन्न हो गया था। इसके पश्चात से ही, नैनीताल जनपद में भी खाद्य सुरक्षा विभाग अलर्ट हो गया है। विभाग के अधिकारियों ने अभियान शुरू किया जिसके तहत आस पास के क्षेत्र की दुकानों से कुट्टू के आटे के सैंपल लिये गए। इसके साथ ही साथ त्योहारी सीज़न की शुरुआत होने के मद्देनज़र, विभाग के अधिकारियों ने समस्त मिठाई कारोबारियों को भी सावधानी बरतने की हिदायत दी।

यह भी पढ़ें: अच्छी खबर: कुमाऊं विश्वविद्यालय में होगी गेस्ट फैकल्टी की भर्ती, 28 तारीख को इंटरव्यू

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड क्रिकेट ट्रायल: नैनीताल के 32 खिलाड़ी अगले दौर में पहुंचे, लिस्ट देखें

खाद्य सुरक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी अश्विनी सिंह और राजेश शर्मा ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में निरीक्षण का अभियान चलाया। अभियान के दौरान तल्लीताल और मल्लीताल की दुकानों से कुट्टू के आटे के सैंपल भरे गए। कुट्टू के आटे के निरीक्षण अभियान के साथ, खाद्य विभाग की टीम ने मल्लीताल में स्थित मिठाई की दुकानों की भी जांच पड़ताल की। जांच के दौरान कई दुकानें ऐसी भी थीं, जिनके पास मिठाई बनाने से ले कर उनके एक्सपायर होने की तारीख का कोई उल्लेख नहीं मिला। विभाग के अधिकारियों ने दुकानदारों को सख्त हिदायत दी। चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि मिठाई बनाने और एक्सपायर होने की तारीख अनिवार्य रूप से एक जगह दर्ज करें। साथ ही साथ यह भी स्पष्ट किया जाए कि मिठाई तेल में बनाई जा रही हैं या घी में। जानकारी के मुताबिक फिलहाल दुकानदारों को नए नियमों के तहत सुधार करने का नोटिस दिया जा रहा है। अधिकारियों ने दुकानदारों को चेताते हुए बताया कि यदि जांच में अगली बार किसी भी प्रकार की खामियां पाई गईं तो चालानी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ में कोविड के खतरे को देखते हुए सभी प्रवासियों को किया जा रहा है कोरंटीन

यह भी पढ़ें: IPL में बनाई ड्रीम टीम,अल्मोड़ा के भगत सिंह को my11circle ने बनाया करोड़पति

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now