उत्तराखंड:निजी स्कूलों में नौकरी कर रहे शिक्षक भी बनेंगे सरकारी अध्यापक,एनसीटीई की मिली हरी झंडी

युवा बनेंगे शिक्षक, उत्तराखंड में बढ़ेगा शिक्षा का स्तर, 2 हजार से ज्यादा पदों पर भर्ती

देहरादून: निजी स्कूलों में तैनात एनआइओएस से डीएलएड प्रशिक्षित शिक्षक भी सरकारी शिक्षक के रूप में नियुक्ति पा सकते हैं। यह नियुक्ति प्राथमिक विद्यालयों में होगी। एनसीटीई से एनआइओएस के डीएलएड पाठ्यक्रम को हरी झंडी दे दी है। इसके बाद प्राथमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में भी इन शिक्षकों को एड किया जा सकता है। एनसीटीई की ओर से जारी इस आदेश की जानकारी शासन के पास भी पहुंच गई है।

इस संबंध में एनसीटीई ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को दिशा-निर्देश भेजे हैं। इसमें एनआइओएस की ओर से दो वर्षीय डीएलएड पाठ्यक्रम को मान्यता दी गई है। निजी स्कूलों में पढ़ा रहे सैकड़ों शिक्षक एनआइओएस से यह डीएलएड का प्रशिक्षण ले चुके हैं। एनसीटीई के निर्देश नहीं होने की वजह से यह शिक्षक सरकारी भर्तियों में शामिल नहीं हो पा रहे थे।

जानकारी के मुताबिक टीईटी उत्तीर्ण कर चुके डीएलएड प्रशिक्षित शिक्षक इसके पात्र होंगे। बता दें कि वर्तमान में पूरे प्रदेश में जिलेवार प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। शुक्रवार को शिक्षा विभाग और शासन को एनसीटीई के निर्देशों की जानकारी मिली। शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने इस संबंध में विभाग के आला अधिकारियों के साथ चर्चा भी की। बताया जा रहा है कि मौजूदा भर्ती प्रक्रिया में इन शिक्षकों को शामिल किया जाएगा हालांकि जल्द ही इस बारे में आधिकारिक घोषणा होगी और उसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now