टेस्टिंग बढ़ने के साथ नैनीताल जिले में बढ़ने लगे कोरोना केस, आंकड़ें देखें

टेस्टिंग बढ़ने के साथ नैनीताल जिले में बढ़ने लगे कोरोना केस, आकंड़ें देखें

हल्द्वानी: लॉकडाउन के वक्त लोगों को सरकार से शिकायत थी कि वह व्यापार करने के लिए छूट दे। जून एक से अनलॉक एक आया और लोगों को काफी छूट दी जाने लगी। सरकार व स्वास्थ्य विभाग की ओर अपील की गई कि जरूरी काम होने पर ही बाहर निकले लेकिन एक कान से सुने और दूसरे से निकाल दो… ये हमारी पुरानी आदत है। इन्ही लापरवाही के चलते जिले में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं। पुलिस भी रोजाना बिना मास्क घूमने वाले और नियमों का उल्लंघन कर सेवा देने वालों पर कार्रवाई कर रही है। इसके अलावा पुलिस ने हल्द्वानी शहर के मुख्य मार्गों पर भी चैकिंग शुरू कर दी है, जिससे की नियमों का उल्लंघन ना हो। आवाजाही बढ़ने के साथ ही केस में भी बढ़ोतरी होने लगी।

आंकड़ों पर गौर करें को लाॅकडाउन के वक्त 31 मई तक नैनीताल जिले में 4200 टेस्ट हुए थे , जिसमें 229 कोरोना संक्रमित थे। जिसका औसत 18.3 पर टेस्ट एक मरीज रहा।  27 जून के आंकड़ों के मुताबिक 7361 टेस्ट हो चुके हैं और 454 कोरोना पाॅजिटिव मिले हैं। इस लिहाज से 16.2 टेस्ट पर एक कोरोना पाॅजिटिव मिल रहा है। लाॅकडाउन के दौरान जिले में रोजाना औसतन 61 कोरोना टेस्ट हो रहे थे। अभी यह संख्या बढ़कर 117 प्रति दिन पहुंच गई है। 

रिपोर्ट के मुताबिक 31 मई 23 लोग ठीक हो चुके थे। 31 मई को कोरोना मरीजों की रिकवरी दर महज दस प्रतिशत था। वहीं, 27 जून को जारी आंकड़ों के मुताबिक नैनीताल जिले में 304 मरीज ठीक हुए हैं। वर्तमान में नैनीताल जिले में कोरोना रिकवरी रेट प्रदेश के रिकवरी रेट के आसपास है। वहीं, मौत के आंकड़े देखे जाए तो जिले में अभी भी मृत्यु दर एक फीसद से नीचे है। 

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now