पंचायत घर निवासी भट्ट दंपत्ति पर जानलेवा हमला, पत्नी की मौत, पति हॉस्पिटल में भर्ती

हल्द्वानी: रामपुर रोड स्थित पंचायत घर के पास महिला के मर्डर ने पूरे शहर को सहमा दिया है। इस वारदात के पीछे लूट की मंशा सामने आ रही है। एसएसपी जन्मेंजय खंडूरी ने मामले की जांच के लिए टीम का गठन कर दिया है और पुलिस ने हत्यारों को खोजना शुरू कर दिया। मृतक महिला की पहचान राधा भट्ट (32) पत्नी भुवन भट्ट के रूप में हुई है।

खबर के मुताबिक ये घटना 5 जून रात की बात रही है। भुवन भट्ट और उनकी पत्नी राधा अपने घर है थे। उनकी बेटी अपने गोरापड़ाव स्थित नाना-नानी के घर गई थी। बताया जा रहा है कि राधा भट्ट की परीक्षाएं चल रही थी इस कारण उन्होंने अपनी बेटी अन्नया को गोरापड़ाव स्थित नाना-नानी के घर भेज दिया था। हत्यारे घर के भीतर खिड़की खोलकर घुसे। उन्होंने राधा और उनके पति भुवन भट्ट पर कई जानलेवा हमले किए और बाइक चोरी कर घरसे भाग निकले। यह घटना 5 तारीक की है। दोनों दिन तक दोनों से परिवार का संपर्क नहीं हुआ तो उन्हें शक हुआ।

Image may contain: 2 people, people standing, sky, mountain, outdoor and nature

भुवन भट्ट के घर के दूसरे तले पर सुशीला तिवारी के डॉ. गुरविंदर किराए पर रहते है। मंगलवार रात की ड्यूटी करने के बाद बुधवार सुबह डॉ. गुरविंदर घर पहुंचे तो उनके कमरे में ताला लगा था, हालांकि वह अपने कमरे में ताला नहीं लगाते थे। उन्होंने ताला तुड़वाने के बाद मकान मालिक भुवन चंद्र भट्ट को कॉल की लेकिन फोन नहीं उठा। दिनभर में कमरे में रहने के बाद शाम को वह फिर ड्यूटी पर चले गए। उन्होंने समझा कि मकान मालिक बाइक लेकर कहीं चले गए होंगे।

बृहस्पतिवार की सुबह कमरे पर पहुंचने पर मेनगेट का ताला कुछ दूरी पर पड़ा देख डॉक्टर को शक हुआ।मकान मालिक का दरवाजा अंदर से बंद था। उन्होंने गांव के लोगों से पूछताछ के बाद कोचिंग संचालक के ससुराल हेड़ागज्जर गौरापड़ाव सूचना दी। ससुराल से भुवन के साले उमेश चौबे पहुंचे। उन्होंने सीढ़ी के रास्ते चढ़कर पिछला दरवाजा तोड़ा और अंदर घुसे। कमरे में पहुंचे तो वहां  राधा का शव बेड पर पड़ा था और भुवन जमीन पर बेहोश पड़े थे। दो कमरों का सामान अस्तव्यस्त था। घर की एक खिड़की के साथ ही आलमारी भी टूटी पड़ी थी।

हल्द्वानी का आर्यन बना भारतीय अंडर-19 टीम का कप्तान

सूचना मिलते ही एसएसपी जन्मेजय खंडूरी, एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव, सीओ डीसी ढौडियाल के साथ शहर के थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। भुवन भट्ट को तुरंत बृजलाल अस्पताल ले जाया गया। भुवन भट्ट महिला डिग्री कॉलेज के सामने नॉलेज जंक्शन नाम की कोचिंग चलाते है।

स्वस्थ्य दांतों के बिना पर्सनिलिटी में निखार केवल सपने जैसा, प्रकाश डेंटल टिप्स

इस घटना के सामने आने के बाद उनके बच्चों की हॉस्पिटल में भीड़ लग गई। एक छात्र ने बताया कि मैम और सर दोनों ही सरल स्वभाव के थे। वो अपने भी अपना चरित्र सरल बनाने की ही बात करते थे। हमें विश्वास नहीं हो रहा है कि कोई इस तरह की इंसान के साथ ऐसा कैसे कर सकता है

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now