लोकसभा से पहले भाजपा को गोवा से मिल सकता है सबसे बड़ा झटका

नई दिल्लीः जहां एक और लोकसभा चुनाव में एक बार फिर विजय प्राप्त करने की कोशिश में जुटी भाजपा का उम्मीदवारों में मंथन चल रहा है। तो वही गोवा में भाजपा सबसे कमजोर पार्टी के रूप में देखी जा सकती है। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बिगड़ने से यहा भाजपा और भी ज्यादा कमजोर पड़ रही है। यही कारण है कि भाजपा के कमजोर पड़ने पर शनिवार 16 मार्च को कांग्रेंस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा को पत्र लिख कर यह दावा किया की भाजपा के पास पूर्ण बहुमत नहीं है और इस के संदर्भ में कांग्रेस को गोवा में सरकार बनाने का मौका दिया जाये। राज्यपाल मृदुला सिन्हा को पत्र लिखकर नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर सरकार बनाने का दावा किया ।
उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन सरकार को बर्खास्त करने और विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की मांग की। मृदुला सिन्हा को लिखे पत्र में कावलेकर ने कहा, “प्रसंगवश भाजपा के दिवंगत विधायक फ्रांसिस डिसूजा की याद आती है, जिन्होंने विनम्रतापूर्वक कहा था कि मनोहर पर्रिकर के नेतृत्ववाली भाजपा सरकार लोगों का विश्वास पूरी तरह खो चुकी है और अब सदन में भी संख्याबल खो चुकी है।”
यह अनुरोध करते हुए कि ऐसी अल्पमत सरकार को इस समय सत्ता में बने रहने की अनुमति न दें, उन्होंने लिखा, “हमारा यह भी अनुमान है कि भाजपा विधायकों की संख्या गिनती में और कम पड़ेगी।” कावलेकर ने कहा, “इसलिए आपका कर्तव्य बनता है कि भाजपा के नेतृत्ववाली सरकार को बर्खास्त कर यह सुनिश्चित करें कि इस समय सदन में बहुमत रखनेवाली सबसे बड़ी पार्टी इंडियन नेशनल कांग्रेस को सरकार गठन के लिए आमंत्रित किया जाए।”