हल्द्वानी सेंट्रल हॉस्पिटल में दिल्ली के डॉक्टर्स भी करेंगे इलाज, मरीजों को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं

हल्द्वानी: प्रदेश में दो शहर ऐसे हैं जो उत्तराखंड वासियों के लिए दिल्ली की तरह हैं। खास कर इलाज के मामले में राजधानी दून और गेटवे ऑफ कुमाऊं यानी हल्द्वानी खासा मजबूत माने जाते हैं। अब इसी मजबूती को और शक्ति देने के लिए हल्द्वानी के सेंट्र्ल अस्पताल में दिल्ली के प्रतिष्ठित अस्पताल ने अपना क्लिनिक खोला है।

बीएलके सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ने शुक्रवार को हल्द्वानी में अपना पहला गैस्ट्रो एवं लीवर क्लिनिक खोला। यह क्लिनिक शहर के सेंट्र्ल हॉस्पिटल की भागीदारी से खोला गया है। लिहाजा लोगों को इस कदम से खासा राहत मिलेगी। ऐसा इसलिए भी क्योंकि आज कल के ज़माने में पेट और लीवर से संबंधित बीमारियां ज़्यादा सामने आ रही हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:कोरोना वायरस की नई SOP जारी,जुर्माने और कंटेनमेंट जोन की होगी वापसी

यह भी पढ़ें: उपचुनाव:कोरोना ने बदला उत्तराखंड का इतिहास,सल्ट में ग्लव्स पहनकर दिया जाएगा मतदान

बता दें कि ओपीडी सेवाएं बीएलके सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के प्रमुख गैस्ट्रोएंटरोलोजिस्ट तथा हीपैटोलोजिस्ट डॉ. मानव वधावन द्वारा शुरू की गई है। बीएलके इंस्टीट्यूट फॉर डायजेस्टिव एंड लीवर डिजीज में गैस्ट्रोएंटरोलोजी तथा हीपैटोलोजी के वरिष्ठ निदेशक डॉ. मानव वधावन एचबीवी संबंधी लीवर ट्रांसप्लांट में एचबीआई मुक्त आहार नियम के विकास के लिए जाने जाते हैं।

डॉ. वधावन अपनी टीम के साथ महीने में एक बार सेंट्रल हॉस्पिटल स्थित इस ओपीडी में आएंगे। बता दें कि यहां लीवर ट्रांसप्लांट के लिए विशेषज्ञों की सलाह और इलाज के अलावा लीवर एवं पैंक्रियाज, भोजन नली, पेट के कैंसर तथा4 लीवर और पैंक्रियाज संबंधी सभी बीमारियों के इलाज और परामर्श की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

यह भी पढ़ें: कुमाऊं मंडल में हुए 12 इंस्पेक्टर्स के ट्रांसफर, एक क्लिक पर देखे सभी नाम

यह भी पढ़ें: कुमाऊं की अनामिका सागर को बधाई… भारतीय सेना में बनी लेफ्टिनेंट

इस मौके पर डॉ. मानव वधावन ने कहा कि यह ओपीडी क्रोनिक हेपेटाइटिस बी/सी, अल्कोहोलिक लीवर तथा ऑटोइम्यून डिसऑर्डर आदि जैसी लीवर और पेट से संबंधी बीमारियों की जांच की सुविधा देगी। साथ ही विषेशज्ञों के मूल्यांकन से भी लाभ मिलेगा।

सेंट्रल हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. संजय जुयाल ने कहा कि उक्त सभी रोगों के मामले में देश के बेहतरीन केंद्र के साथ भागीदारी करते हुए यह ओपीडी सेवा शुरू करने को लेकर हम वाकई खुश हैं और ज़्यादा से ज़्यादा मरीजों की जान बचाने की अपेक्षा करते हैं। हमारी सेवाओ में सभी तरह के परामर्श और जांच के अलावा इलाज के लिए हर तरह की सेवाएं शामिल होंगी।

यह भी पढ़ें: CM तीरथ सिंह रावत के बाद पूर्व सीएम को भी हुआ कोरोना,परिवार के 4 सदस्यों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के ऐलान को हाईकोर्ट ने बताया गलत, बदला था पूर्व सीएम का फैसला

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now